Wednesday , October 20 2021

केजीएमयू के लिए यादगार बन गया 1 जुलाई 2021, पीएम ने की सीधी बात

-ई संजीवनी टेलीकंसल्‍टेशन से ओपीडी के लिए की टेलीमेडिसिन की प्रशंसा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। यह एक संयोग ही था कि आज 1 जुलाई को जहां डॉक्‍टर्स डे मनाया गया वहीं आज ही के दिन छह साल पूर्व डिजिटल इंडिया को 1 जुलाई, 2015 को प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लॉन्च किया गया था, यानी उसका भी सेली‍ब्रेशन आज ही था। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय के लिए ये दोनों दिन आज यादगार बन गये। यहां के चिकित्‍सकों को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के साथ ऑनलाइन कार्यक्रम में शामिल होने का अवसर मिला। प्रधानमंत्री ने केजीएमयू के टेलीमेडिसिन की सराहना की, इसके बाद कुलपति ले.ज. डॉ बिपिन पुरी ने टेलीमेडिसिन की प्रभारी डॉ शीतल वर्मा को अपनी ओर से भी बधाई दी।

प्रधानमंत्री ने बिहार के पूर्वी चम्‍पारण की रहने वाली मरीज कांती देवी के साथ ही उसका ऑनलाइन इलाज करने वाले केजीएमयू के वृद्धावस्‍था मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ भू‍पेन्‍द्र सिंह से प्रधानमंत्री ने बात की। ज्ञात हो डिजिटल टेक्‍नोलॉजी जिसका कोविड काल में बहुमूल्‍य उपयोग ई संजीवनी टेलीकंसल्‍टेशन में सामने आया। भारत में कहीं के भी मरीज ने इस ऐप के माध्‍यम से इस कोविड काल में घर बैठे ही विशेषज्ञ डॉक्‍टरों से सलाह ले रहे हैं। इस सुविधा का कितना लाभ मिल पा रहा है।

केजीएमयू से जारी विज्ञप्ति में बताया गया है कि 1 जुलाई, 2021 को डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के 6 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में, भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने एक ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन किया, इसमें प्रधानमंत्री ने डिजिटल इंडिया योजनाओं के लाभार्थियों के साथ बातचीत की। यह आयोजन पिछले 6 वर्षों में डिजिटल इंडिया की उपलब्धियों का जश्न मनाने और भविष्य के लिए रोडमैप तैयार करने का अवसर था। उद्योग, नागरिक समाज, शिक्षा और सरकार के डिजिटल इंडिया के हितधारक और भागीदार इस आयोजन में शामिल हुए। प्रधानमंत्री ने टेलीमेडिसिन केजीएमयू के प्रयासों की सराहना की और केजीएमयू के डॉक्टरों को कोविड महामारी के बीच ई-संजीवनी टेलीकंसल्टेशन के माध्यम से ओपीडी सेवाएं प्रदान करने के लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री ने डॉक्‍टर्स डे के अवसर पर डॉक्टरों को बधाई दी।

कुलपति ने कहा कि यह दिन केजीएमयू के लिए एक यादगार और महत्वपूर्ण दिन है, और यह अत्यंत गर्व की बात है कि ई-संजीवनी के लाभार्थियों, जिन्हें किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों के द्वारा इलाज दिया गया को प्रधानमंत्री के साथ बातचीत के लिए चुना गया। कार्यक्रम पूर्वाह्न 11:00 बजे शुरू हुआ। प्रधानमंत्री ने एक लाभार्थी (रोगी-कांति देवी, पूर्वीचंपारण, बिहार) और उनके चिकि‍त्सक डॉ. भूपेंद्र सिंह के साथ बातचीत की थी। (डॉ.) बिपिन पुरी, कुलपति ने भी डॉ शीतल वर्मा, प्रभारी टेलीमेडिसिन को बधाई दी जिनकी देखरेख में केजीएमयू ने अब तक 2.5 लाख से अधिक परामर्श प्रदान किए हैं जो भारत में सबसे अधिक है।

इस कार्यक्रम का केजीएमयू परिसर में सीधा प्रसारण किया गया और इसमें सभी विभागों के प्रमुख, संकाय सदस्य और रेसिडेंट्स शामिल हुए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com