स्कूली बच्चों को बताये दांतों की सुरक्षा के टिप्स

लखनऊ। डाबर ने अपनी सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी निभाते हुए देश भर के बच्चों को दंत सुरक्षा के साथ ही सम्पूर्ण स्वास्थ्य एवं अच्छाई के बारे में जानकारी देने के लिए चलाये जा रहे कैम्पेन का आज यहां लखनऊ में समापन किया। इस अवधि में देश के पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के 47 जिलों में अपना कैम्पेन चलाया। डाबर का अग्रणी प्राकृतिक रेड टूथपेस्ट अपना सामाजिक अभियान पिछले एक वर्ष से चला रहा था। अपने अभियान में 47 जिलों के लगभग 1000 स्कूलों के दस लाख बच्चों को दंत सुरक्षा सहित स्वास्थ्य के बारे में जागरूक किया गया। यह जानकारी डाबर इंडिया लिमिटेड के कंज्यूमर एक्टिवेशन हेड सुनील शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अभियान के अंतर्गत एक साल की समयावधि में डाबर डेन्टिस्ट की टीम ने उत्तर भारत के स्कूलों में पहुंचकर छात्रों से सम्पर्क कर उन्हें ओरल केयर की विभिन्न प्रकार की जानकारियां दी गयीं। इस कैम्पेन के द्वारा स्कूली छात्रों में ओरल हाईजीन की आवश्यकता के बारे में जोर दिया गया।

स्कूलों के प्रधानाचार्यों को किया गया सम्मानित

अभियान की सफलता के बारे में जानकारी देते हुए यहां एक निजी होटल में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुये सुनील शर्मा ने कहा कि इन कैम्पेन के सहयोग से स्कूल के बच्चों में ओरल हाईजीन की आदतों में सुधार हुआ है। अब वे उन सभी आदतों से सजग हैं जो ओरल हाईजीन के लिए नुकसानदेह है। इस अवसर पर उन्होंने स्कूलों के प्रधानाचार्यों का धन्यवाद अदा करते हुए उन्हें सम्मानित भी किया। श्री शर्मा ने कहा कि हमें खुशी है कि डाबर डेंटल ब्रिगेड कैम्पेन 2016-17 को उच्च शिखर पर पहुंचाने की और हमारा हृदय प्रधानाचार्यों, अध्यापकों, डेन्टल विशेषज्ञों के प्रति शुभकामनाओं से भरा हुआ है जो हमारी पूरी यात्रा में उन्होंने इस मेगा सोशल कैम्पेन में उनका सहयोग रहा है। इस इनीशिएटिव द्वारा हमारा लक्ष्य है बच्चों द्वारा उनके परिवार को नियमित रूप से ओरल हाईजीन अपनाने के बारे में शिक्षित करना।
इस अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस साल जो परिणाम हमें प्राप्त हुए है उनसे हम आशा करते है कि इस इनीशिएटिव को साल दर साल स्कूल के बच्चों में ओरल हाईजीन बढ़ाने का उत्तरदायित्व संभालेंगे। उन्होंने बताया कि डाबर भारत की सबसे पुरानी आयुर्वेदिक कम्पनियों में से एक है, ने विसंगति दूर करके भारत को एक स्वस्थ देश बनाने के लिए ओरल हेल्थ इश्यू अपनाने का निश्चय किया है। इसके लिए नियमित ओरल हाईजीन कैम्प म्युनिस्पिल एवं राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होते है। इन कैम्पों का मूल संदेश ओरल हाईजीन तथा दांतों की समस्यायें जो लोगों द्वारा भोगी जाती है, से छुटकारा दिलाने हेतु उन्हें शिक्षित किया जाये।