Thursday , August 18 2022

तम्बाकू का निर्माण व बिक्री पूरी तरह हो प्रतिबंधित

लखनऊ। आज नशा युवा पीढ़ी को निगल रहा है। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चे व मजदूर वर्ग तम्बाकू व बीड़ी सिगरेट के आदी हो रहे हैं। इससे उनके स्वास्थ्य पर कुप्रभाव पड़ता है। तम्बाकू स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है यह जानकर भी लोग इसका सेवन कर रहे हैं। इसलिए सरकार को चाहिए कि उत्तर प्रदेश में तम्बाकू के निर्माण व बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगे। यह बातें पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक डा. आरआर भारती ने कही। वह गुरुवार को चिनहट स्थित बाबा पैरामेडिकल इंस्टीट्यूयट में नशा मुक्ति आन्दोलन द्वारा आयोजित संगोष्ठी को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।
डॉ. आरआर भारती ने कहा कि नशा मुक्ति के क्षेत्र में नशा मुक्ति आन्दोलन का सराहनीय प्रयास है।

 

मीठा जहर है तम्बाकू : डॉ. अनुरुद्ध वर्मा

केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद के सदस्य : डॉ. अनुरुद्ध वर्मा ने मेडिकल छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि तम्बाकू मीठा जहर है जो जिन्दगी को निगल रहा है। उन्होंने कहा कि सिगरेट का हर कश जिन्दगी के पांच मिनट कम कर देता है। धूम्रपान एवं तम्बाकू की वजह से 25 प्रकार के कैंसर होते हैं। सिगरेट के धुएं में 400 प्रकार के रसायन होते हैं जिनमें से 200 रसायन जहरीले होते हैं।
डॉ. अनुरुद्ध वर्मा ने बताया कि सिगरेट और तम्बाकू की लत असमय मौत का कारण बनता है। सबसे खतरनाक बात यह है कि सबसे ज्यादा युवा इसके शिकार हो रहे हैं जो देश का भविष्य हैं।

धूम्रपान निषेध कानून का सख्ती से होगा पालन

तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के राज्य सलाहकार सतीश त्रिपाठी ने बताया कि अब हर जिले में सरकार नशा उन्मूलन क्लीनिक खोलेगी। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान निषेध कानून का अब सख्ती से पालन किया जायगा और उल्लंघन करने पर जुर्माना वसूला जायेगा।

तम्बाकू व धूम्रपान के सेवन से दूर रहें युवा

नशा मुक्ति आन्दोलन के संयोजक बृजनन्दन यादव ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश को स्वस्थ,समृद्ध व स्वावलम्बी प्रदेश बनाना है तो सरकार को प्रदेश में तम्बाकू पर रोक लगानी होगी। उन्होंने पैरामेडिकल छात्रों से कहा कि वह स्वयं नशे से दूर रहें व जागरूक नागरिक का कर्तव्य निभाते हुए अपने मित्रों को भी जागरूक करें।

पैरामेडिकल छात्रों ने लिया नशे से दूर रहने का संकल्प

बाबा पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट में गुरुवार को संगोष्ठी के साथ नशा मुक्ति पखवाड़े का शुभारम्भ हो गया। अब 15 दिन तक लगातार प्रदेशभर में तम्बाकू के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाया जायेगा।
नशा मुक्ति आन्दोलन द्वारा संगोष्ठी में केन्द्रीय होम्योपैथिक परिषद के सदस्य व पूर्व स्वास्थ्य महानिदेशक डा. आरआर भारती ने पैरामेडिकल छात्र-छात्राओं को नशे से दूर रहने का संकल्प दिलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seven − 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.