Wednesday , August 17 2022

संविदा वाली एएनएम को 25,000 वेतन सहित कई सुविधाओं पर बनी सहमति

-एनएचएम की मिशन निदेशक ने की एएनएम के वैक्‍सीनेशन कार्य की प्रशंसा

-कर्मचारियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ मिशन‍ निदेशक की बैठक रही सफल

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। वेक्सीनेशन में अग्रणी भूमिका निभा रही संविदा पर कार्यरत एएनएम को पेट परीक्षा से मुक्ति, 25,000 रुपये वेतन सहित कई अन्‍य सुविधाओं पर राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्‍याय ने अपनी सहमति जतायी है। मिशन निदेशक ने यह सहमति आज उनसे मिले कर्मचारियों के एक प्रतिनिधिमंडल से वार्ता में जतायी।

यह जानकारी देते हुए संयुक्त राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ उ प्र के प्रदेश महामंत्री योगेश उपाध्याय ने बताया कि राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश महामंत्री अतुल मिश्रा नेतृत्व में 7 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल में शामिल पदाधिकारियों में संयुक्त राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ उ प्र के प्रदेश महामंत्री योगेश उपाध्याय, एएनएम संविदा संघ की प्रदेश संयोजिका प्रेमलता पांडे, प्रदेश महामंत्री सीमा शर्मा, स्वामी त्रिवेदी (हरदोई), वंदना देवी (संत कबीर नगर), संरक्षक एएनएम संघ के संरक्षक सूर्य प्रकाश पांडे ने मिशन निदेशक से मुलाकात की।

मुलाकात के दौरान मिशन निदेशक ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा अनुसार सभी एएनएम काम कर रही हैं, उन्‍होंने वेक्सिनेशन में अग्रणी भूमिका निभाकर प्रदेश को नंबर 1 बनाया है। उन्‍होंने कहा कि पेट परीक्षा मुक्ति, वेतन 25000 रुपये करने की कार्यवाही अन्य राज्यों के आधार पर गृह जनपद ट्रांसफर के लिए वरीयता अनुसार किए जाने के लिए शासन स्तर पर वार्ता की जाएगी।

उन्‍होंने कहा कि चाइल्ड केयर लीव का प्रावधान पर निर्णय अन्य राज्यों के आधार पर अध्ययन कर किया जाएगा जबकि नियमित ए एन एम की भांति वित्तीय अधिकार, अनटाइटल्ड फंड सहित अन्य लाभ मिलेंगे, संविदा एएनएम को मोबलाइजेशन राशि प्रदान की जाएगी। उन्‍होंने आश्‍वासन दिया कि सभी को सुरक्षा के लिए 50,00,000 रुपये का बीमा किया जाए, इसका प्रस्ताव तैयार होगा। इसके अतिरिक्‍त एएनएम को गोल्डेन कार्ड एवं स्वास्थ्य सुविधा कार्ड तैयार कराए जाएंगे फिर भी यदि कोई भी एएनएम बिना किसी गलती के निष्कासित की गयी हों या उनके खिलाफ कार्रवाई की गयी हो तो वे अपनी पुनः सेवा बहाली के लिए आवेदन करें। निदेशक ने कहा कि कोविड-19 प्रोत्साहन राशि 25 प्रतिशत मिले इस पर पुनः प्रयास होंगे, साथ ही वेतन विसंगति दूर करने में महिला प्रतिनिधि को शामिल किया जाएगा तथा वेतन वृद्धि भी होगी।

कर्मचारियों की ओर से मीटिंग का नेतृत्व कर रहे अतुल मिश्रा ने कहा कि मिशन निदेशक ट्रांसफर के लिए पत्रावली शासन में भेजें जहां-जहां राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद द्वारा पैरवी की आवश्यकता होगी वहां पर संविदा एएनएम को पूर्ण संरक्षण दिया जायेगा।

मुलाकात में संयुक्त राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री योगेश उपाध्याय द्वारा आवश्यकता अनुसार समस्त कागजात उपलब्ध कराते हुए एएनएम का पक्ष मजबूती से रखा गया।

एएनएम संविदा संघ की प्रदेश संयोजिका प्रेम लता पांडे ने कहा कि उम्मीद के अनुसार वार्ता सफल रही। लगभग 3 घंटे मैराथन वार्ता में समस्त समस्याओं के समाधान के लिए आवश्यक प्रभावी कार्यवाही होगी तथा एक-एक कर कार्यवाही की प्रगति सामने दिखेगी। प्रदेश महामंत्री सीमा शर्मा, वंदना, स्वाति ने भी विस्तार से अपनी बात रखी। इस मीटिंग की कार्यवृत्ति बाद में जारी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen − 9 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.