Friday , October 7 2022

अस्‍पतालों में दो घंटे कार्य बहिष्‍कार : न बना पर्चा, न हुईं जांचें और न ही मिलीं दवाएं

-नीति विरुद्ध ट्रांसफर के विरोध में राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद पूरे प्रदेश में कर रहा है दो घंटे कार्य बहिष्‍कार

बलरामपुर अस्‍पताल, लखनऊ

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ0प्र0 ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में शासन द्वारा जारी स्थानान्तरण नीति 2022-23 के विरुद्ध  किये गये स्थानान्तरण को निरस्त करने की मांग करते हुए आज 26 जुलाई को लखनऊ सहित प्रदेश के समस्त जनपदों में 8 से 10 बजे तक कार्य बहिष्कार सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। कार्य बहिष्‍कार कल 27 जुलाई को भी जारी रहेगा।

महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के समस्त जनपदों में आज का कार्य बहिष्कार सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। सी0एच0सी0 पी0एच0सी0 व जिला अस्पताल में कार्य बहिष्कार से अस्पताल का कार्य प्रभावित हुआ, जिसमें मुख्य रूप से पर्चा बनना, फार्मासिस्ट ने दवा बांटना 10ः00 बजे शुरू किया। पैथोलाजी में जांच भी 10 बजे तक शुरू नहीं हुई इसी तरह एक्स-रे न होने से ओ0पी0डी0 पूर्णतः प्रभावित रही।

उन्‍होंने बताया कि कार्मिक द्वारा जारी स्थानान्तरण नीति के विपरीत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में  पैरामेडिकल एवं अन्य सभी संवर्गों में व्यापक स्थानान्तरण किये गये हैं। विभाग द्वारा किये गये स्थानान्तरण में स्थानान्तरण नीति का पूर्ण रूप से पालन नहीं किया गया है एवं स्थानान्तरण नीति के प्रस्तर-05 एवं 12 के विपरीत जाकर मान्यता प्राप्त संगठनों के अध्यक्ष/सचिव, दिव्यांग, दाम्पत्य नीति, गम्भीर बीमारी, दो वर्ष से कम सेवानिवृत्ति होने वाले, भिन्न पदों पर कार्यरत कर्मचारियों का नियम विरूद्व स्थानान्तरण किया गया है।

अवंती बाई (डफरिन) महिला चिकित्‍सालय, लखनऊ

16 जून को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, उत्तर प्रदेश शासन द्वारा जारी शासनादेश के तहत समूह ग एवं घ के कार्मिकों के पटल/क्षेत्र परिवर्तन के निर्देश जारी किए गए। पटल परिवर्तन का स्पष्ट अर्थ है काउंटर परिवर्तन एवं क्षेत्र परिवर्तन जो कि फील्ड में कार्यरत कर्मचारियों पर लागू होता है, जनपदों के अधिकारियों द्वारा पटल परिवर्तन के नाम पर कर्मचारियों का ट्रांसफर व आर्थिक शोषण किया गया। अनेकों जनपदों में समूह ख के कर्मचारियों के पटल परिवर्तन कर दिए गए। यहां तक सेवानिवृत्त व मृतक कर्मी का भी स्थानान्तरण कर दिया गया है।

डॉ श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्‍पताल, लखनऊ

परिषद लखनऊ जनपद शाखा अध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव ने बताया कि दिनांक 25 जुलाई 2022 को लखनऊ कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर धरना/प्रदर्शन सम्पन्न कराने के बाद 26 जुलाई को दो घण्टे कार्य बहिष्कार सम्पन्न हुआ। बलरामपुर चिकित्सालय में सुरेश रावत अध्यक्ष व अतुल मिश्रा महामंत्री, संगठन प्रमुख के0के0 सचान के नेतृत्व में दो घण्टे बहिष्कार किया गया। अवंती बाई चिकित्सालय आई0एन0 त्रिपाठी व ओ0पी0 पाण्डेय के नेतृत्व में कार्य बहिष्कार किया गया  नारेबाजी की गई। वही रानी लक्ष्मीबाई चिकित्सालय में जी0एम0 सिंह अध्यक्ष आप्टोमेट्रिस्ट एसो0 के नेतृत्व में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। राजीव तिवारी महामंत्री डेन्टल हाईजिनिस्ट एसोसिएशन उ0प्र0 के नेतृत्व में टी0बी0 अस्पताल ठाकुरगंज में सम्पन्न हुआ। सुनील यादव अध्यक्ष फार्मासिस्ट एसो0 के नेतृत्व में सिविल अस्पताल में सफलतापूर्वक कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। डी0डी0 त्रिपाठी, राम मनोहर कुशवाहा, अनिल चौधरी के नेतृत्व में डा0 राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यक्रम में सम्पन्न हुआ। लखनऊ जनपद के समस्त चिकित्सालय पी0एच0सी0, सी0एच0सी0 से लेकर जिला अस्पताल तक सभी जगह कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर नारेबाजी करते हुये नीति के विरुद्ध किये गये स्थानान्तरण करने की मांग की।

परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत ने कहा कि स्थानांतरण नीति के विपरीत किए गए स्थानांतरण से चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के समस्त संवर्गों के कर्मचारियों में अत्यंत रोष व्याप्त है। शासन द्वारा स्थानांतरण किए जाने की अंतिम तिथि 30 जून 2022 निर्धारित की गई थी। परंतु स्थानांतरण सूचियां दिनांक 1 जुलाई को सायं काल के उपरांत एवं 2 जुलाई 2022 को जारी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

15 − 2 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.