Wednesday , October 5 2022

गलत मानने के बाद भी तबादलों को निरस्‍त क्‍यों नहीं कर रहे अधिकारी ?

-अनियमित स्‍थानांतरणों को लेकर तीसरे दिन भी फार्मासिस्‍टों ने बांधा काला फीता  

संदीप बडोला

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। आज 22 जुलाई को तीसरे दिन भी डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के आह्वान पर समस्त जिलों के फार्मेसिस्टों द्वारा प्रदेश के समस्त चिकित्सालयों में काला फीता बांधकर स्वास्थ्य विभाग में हुए नियम विरुद्ध  स्थानांतरण का विरोध किया। इस मौके पर बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ में डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन के कार्यालय में संगठन के पदाधिकारियों ने बैठक करके इस बात पर आक्रोश व्यक्त किया कि आंदोलन के तीसरे दिन के पश्चात भी विभाग द्वारा व शासन द्वारा नियम विरुद्ध किए गए स्थानांतरण के संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संदीप बडोला ने कहा कि विभागीय अधिकारी तानाशाही कर रहे हैं। शासन द्वारा जारी स्थानांतरण नीति के विपरीत जाकर किए गए स्थानांतरण को निरस्त न करके कर्मचारियों को एक तरफा कार्यमुक्त करवा रहे हैं। उन्होंने कहा आश्चर्य का विषय है कि विभाग के उच्च अधिकारी स्थानांतरण में व्यापक कमियों की बात को स्वीकार कर रहे हैं एवं उस पर कमेटी भी गठित कर रहे हैं परंतु कमेटी की रिपोर्ट के पश्चात भी नियम विरुद्ध किए गए स्थानांतरण को निरस्त नहीं किया जा रहा है जिस कारण विकलांग कर्मचारी, कैंसर जैसे रोग से ग्रसित कर्मचारी, दाम्पत्य नीति से आच्छादित, संगठन के पदाधिकारी, दो वर्ष से कम समय मे सेवानिवृत्त कर्मचारियों को जनपदों में जबरन एक तरफा कार्य मुक्त कर दिया गया। इससे अफरा-तफरी का माहौल है। स्वास्थ्य सेवाओं पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है और कर्मचारी आंदोलन के लिए मजबूर है।

उन्होंने कहा नियम विरुद्ध किए गए स्थानांतरण का विरोध जारी रहेगा। 24 तारीख तक प्रदेश के कर्मचारी काला फीता बांधकर विरोध करते रहेंगे। 25 जुलाई को प्रदेश के प्रत्येक जनपद में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पर धरना दिया जाएगा एवं 26 जुलाई से 30 जुलाई तक प्रदेश के प्रत्येक जनपद में 2 घंटे कार्य बहिष्कार किया जाएगा उसके बाद भी यदि सकारात्मक कार्यवाही शासन एवं विभाग द्वारा नहीं की जाती है तो कर्मचारियों को अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए भी बातें होना पड़ेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की कि कृपया प्रकरण पर हस्तक्षेप कर शीघ्र निर्णय लिया जाए और जिन अधिकारियों ने स्थानांतरण नीति के विपरीत जाकर अनियमित स्थानांतरण किए हैं उन अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाए।

डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री उमेश मिश्रा ने कहा स्थानांतरण से स्वास्थ्य विभाग के फार्मेसिस्ट संवर्ग के कर्मचारी पीड़ित हैं एवं अधिकारियों की तानाशाही से उनमें अत्यंत आक्रोश है।

संगठन के प्रदेश संरक्षक आर एन ड़ी द्विवेदी ने कहा स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारी सरकार की नीतियों के विपरीत जाकर सरकार की छवि खराब करने का काम कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों के विरुद्ध उच्च स्तर पर कार्यवाही करके नियम विरुद्ध स्थानांतरण  निरस्त किए जाने चाहिए वरना संगठन को कठोर आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश कोषाध्यक्ष अजय पांडे, प्रवक्ता एस एम त्रिपाठी,जिला मंत्री अखिल सिंह, मनमोहन मिश्रा, सुभाष श्रीवास्तव, शिरीष मिश्रा, महेश सिंह, देवेंद्र प्रताप सिंह,राजेश त्रिपाठी, चंद्रसेन अरोरा, प्रेम नारायण मौर्य, संगीता आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × 5 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.