Sunday , December 5 2021

कुलपति ने कहा, 90 फीसदी बीमारियों से तो ऐसे ही निपट सकते हैं हम

एनएचएम के तहत आयुष चिकित्‍सकों की विभिन्‍न बीमारियों पर केजीएमयू में ट्रेनिंग शुरू

 

लखनऊ। 90 फीसदी बीमारियों की वजह हमारे द्वारा अपनायी जा रही आधुनिक जीवन शैली है, अगर हम स्‍वस्‍थ जीवन शैली अपनायें तो इन 90 फीसदी बीमारियों से बचा जा सकता है। यह बात किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय केजीएमयू के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने शनिवार को केजीएमयू के कलाम सेंटर में आयोजित आयुष चिकित्‍सकों के डिजीज मैनेजमेंट प्रोग्राम के उद्घाटन के अवसर पर मुख्‍य अतिथि के रूप में अपने समबोधन में कही।

 

प्रो भट्ट ने कार्यक्रम में उपस्थित आयुष चिकित्‍सकों से अपील की कि वे अपने जीवन चिकित्‍सीय जीवन को समाज हित में लगायें, इसके लिए वह स्‍वयं को निरोगी बनाने के लिए आदर्श जीवन शैली अपनायें और नियमित व्‍यायाम के साथ ही खानपान पर विशेष ध्‍यान दें।  कि ग्‍लोबल टच इंटरनेशनल द्वारा आयुष चिकित्‍सकों के इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके तहत नेशनल हेल्‍थ मिशन (नेशनल हेल्‍थ मिशन) के अंतर्गत आने वाली बीमारियों पर ट्रेनिंग दी गयी। 15 सितम्‍बर से शुरू हुआ यह कार्यक्रम 17 नवम्‍बर तक प्रत्‍येक शनिवार को आयोजित किया जायेगा इस दौरान केजीएमयू के विभिन्‍न विभागों के प्रोफेसर्स द्वारा ट्रेनिंग दी जायेगी।

 

इस ट्रेनिंग प्रोग्राम का उद्घाटन कुलपति एमएलबी भट्ट ने दीप प्रज्जवलित कर किया। जिसके बाद आयोजकों ने कुलपति  को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया।