Tuesday , April 16 2024

कुलपति ने कहा, चिकित्‍सकों के लिए प्रेरणास्रोत हैं प्रो अनिल कुमार त्रिपाठी

-1986 में केजीएमसी से सेवा शुरू करने के बाद 2023 में केजीएमयू से हुए सेवानिवृत्‍त

 -एसजीपीजीआई व लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान के निदेशक पद पर भी दे चुके हैं सेवाएं   

 

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। आज दिनांक 30 जून को किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के क्‍लीनिकल हेमैटोलोजी डिपार्टमेंट के हेड प्रो अनिल कुमार त्रिपाठी के सेवानिवृत्त होने पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के सेल्बी हाल में विदाई समारोह का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर केजीएमयू के  कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल (डॉ0) बिपिन पुरी ने कहा प्रो ए के त्रिपाठी एक योग्य चिकित्सक शिक्षक होने के साथ संवेदनशील एवम  अनुशासित व्यक्तित्व के गुणों से संपन्न हैं। उन्होंने कहा प्रो0 त्रिपाठी ने अपना पूरा जीवन मरीज के उपचार एवम उनकी सेवा में लगाया है, जो आज के चिकित्सकों के लिए प्रेरणा है। इसके साथ ही उन्होंने प्रो0 त्रिपाठी के उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

इस मौके पर प्रो अनिल कुमार त्रिपाठी ने कहा कि केजीएमयू के लिए काम करना उनके लिए एक गौरवान्वित व सुखद अनुभव रहा। उन्होंने साथी चिकित्सकों को हर समय सहयोग के लिए धन्यवाद कहा। प्रो त्रिपाठी  ने एमबीबीएस की परीक्षा वर्ष 1981 जीएसवीएम कानपुर से पूर्ण की तथा सभी 15 गोल्ड मेडल प्राप्त किये और वर्ष 1985 में एमडी पूर्ण किया।

डा0 त्रिपाठी ने वर्ष  1986 से  किंग जॉर्ज विश्वविद्यालय में एक शिक्षक (अस्सिस्टेंट प्रोफेसर) के रूप में अपनी सेवाएं देना प्रारम्भ किया तथा 2011 से अब तक उन्होंने क्लिनीकल हेमैटोलोजी डिपार्टमेंट का कार्यभार प्रोफ़ेसर एवं हेड के रूप में संभाला।

प्रो0 त्रिपाठी वर्ष 2019-20 में निदेशक राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान, लखनऊ व वर्ष 2020 में नवंबर माह से फरवरी तक निदेशक, एसजीपीजीआई, लखनऊ तथा वर्ष 2022-23 डीन, फैकल्टी ऑफ मेडिसिन केजीएमयू भी रहे।

प्रो0 त्रिपाठी द्वारा लिखित पुस्तकें “इसेंसियल ऑफ़ मेडिसिन फॉर डेंटल स्टूडेंट” फोर्थ एडिशन 2023, “एनीमिया,कुछ रोचक जानकारियाँ 2014” (सम्मानित विश्व विद्यालयी सम्मान, उ0प्र0 ), “प्लेटलेट्स की कमी :भ्रांतियां एवं समाधान“2018 हैं।

इस कार्यक्रम में प्रति कुलपति प्रो0 विनीत शर्मा, प्रो आरके गर्ग, प्रो अमिता जैन, सीएमएस डॉ एसएन संखवार, एमएस डॉ डी हिमांशु एवं सभी विभागाध्यक्ष सम्मिलित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.