केजीएमयू में येलो फीवर सेंटर में अब हफ्ते में दो दिन होगा टीकाकरण

अभी तक लगता था सिर्फ एक दिन, अब सोमवार और गुरुवार को लगेगा

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय स्थित कम्यूनिटी मेडिसिन एवं पब्लिक हेल्थ विभाग में स्थित येलो फीवर टीकाकरण सेंटर में अब सप्‍ताह में दो दिन येलो फीवर का टीका लगाया जायेगा। आपको बता दें कि अफ्रीका एवं दक्षिणी अमेरिका जैसे देशों में जाने के लिए यह टीका लगवाना अनिवार्य होता है। केजीएमयू स्थित यह सेंटर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार एवं झारखंड के अलावा नेपाल के लोगों के लिए भी एकमात्र सेंटर है। भारत सरकार द्वारा प्राधिकृत इस येलो फीवर वैक्सीनेशन  सेंटर का संचालन 15 दिसंबर, 2016 से किया जा रहा है।

 

सेंटर प्रभारी डॉ जमाल मसूद से यह जानकारी देते हुए बताया है कि अभी तक यह टीका सप्ताह में एक दिन प्रत्येक गुरुवार को लगाया जाता था, जिसमें करीब 70-90 लोगों को टीका लगाया जाता था। अब इसे सोमवार को भी लगाया जायेगा। ज्ञात हो कि अफ्रीका एवं दक्षिणी अमेरिका के देशों में जाने के लिए येलो फीवर का टीकाकरण अनिवार्य है।

 

येलो फीवर वैक्सीनेशन सेंटर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार एवं झारखंड के अलावा नेपाल के लोगो के लिए भी एकमात्र सेंटर है। सेंटर पर दूर-दराज से आने वाले मरीजों के हितार्थ कुलपति प्रो0 मदनलाल ब्रह्म भट्ट द्वारा येलो फीवर वैक्सीनेशन  को सप्ताह में दो बार करने का निर्देश दिया गया। जिसके क्रम में अब येलो फीवर वैक्सीनेशन सप्ताह में दो दिन प्रत्येक सोमवार एवं बृहस्पतिवार को सुबह 10 बजे से अपराह्न 1 बजे तक किया जायेगा, जिसके लिए पंजीकरण प्रत्येक सोमवार एवं बृहस्पतिवार को सुबह 9-10 बजे के मध्य किया जायेगा। येलो फीवर वैक्सीनेशन का चार्ज 351 रू0 ( 50रू0 ओ.पी.डी. पंजीकरण + 1 रू0 पर्चा + 300रू0 भारत सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क) है। यह टीकाकरण 1वर्ष से कम आयु के बच्चों, गर्भवती महिलाओं एवं 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को नहीं लगाया जाता है।