Thursday , December 2 2021

उत्‍तराखंड मॉडल जैसी व्‍यवस्‍था यूपी में भी हो, तो हासिल होगा सबको स्‍वास्‍थ्‍य का लक्ष्‍य

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य दिवस पर डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन एवं इण्डियन फार्मास्युटिकल्स एसोसिएशन ने किया गोष्‍ठी का आयोजन

लखनऊ। हेल्‍थ वैलनेस सेंटर में अगर फार्मासिस्‍ट व एएनएम की नियुक्ति हो जाये तो साधारण रोग से ग्रसित मरीज की प्राथमिक चिकित्‍सा व उनको आवश्‍यक सलाह प्राथमिक स्‍तर पर ही मिल जायेगी। इसी से सभी को स्‍वास्‍थ्‍य का शतप्रतिशत लक्ष्‍य प्राप्‍त हो सकेगा। यह व्‍यवस्‍था उत्‍तराखंड में लागू है, इसी का नतीजा है कि राज्‍य के हेल्‍थ स्‍टेटस में वृद्धि हुई है।

 

यह बात पूर्व सदस्य फार्मेसी कौसिंग ऑफ इण्डिया एवं सचिव आईपीए उत्‍तर प्रदेश आरए गुप्‍ता ने बलरामपुर अस्‍पताल के विज्ञान भवन में आयोजित गोष्‍ठी में यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज एवरी वन पर व्याख्यान देते हुय कही। गोष्ठी का आयोजन विश्व स्वास्थ्य दिवस  के अवसर पर रविवार को डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन उ0प्र0 लखनऊ एवं इण्डियन फार्मास्युटिकल्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में किया गया था।

 

उन्‍होंने उत्तराखण्ड माडल की चर्चा करते हुये बताया कि वहां ग्रामीण एवं सुदूर अंचलों के निवासियों के हेल्‍थ ऑन डोर के रूप में स्वास्थ्य उप केन्द्रों में ए0एन0एम0 के साथ फार्मेसिस्ट की नियुक्ति है जिससे साधारण रोग से ग्रसित मरीज की प्राथमिक चिकित्सा व आवश्यकय सलाह देकर आवश्यकतानुसार मरीजो के उच्च स्वास्थ्य इकाईयों में भेजा जाता है वहां जिला अस्पतालों में आने वाले ऐसे मरीजों की संख्या भरी, आयुषमान भारत योजना, जो युनीवर्सल हैल्थ कवरेज का महत्वपूर्ण मांग है, के अन्तर्गत फार्मेसिस्ट की सेवायें हेल्थ वेलनेस सेन्टर में लिये जाने पर ही शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्त हो सकेगा राज्य सरकार के इस पर तुरन्त ध्यान देना चाहिये।

इस गोष्‍ठी का उद्घाटन निदेशक पैरामेडिकल उप्र डा0 एम0के गुप्ता ने किया। इस अवसर पर बलरामपुर चिकित्सालय के निदेशक डा0 राजीव लोचन, मुख्य चिकित्साधिकारी के निदेशक डा0 राजीव लोचन, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 नरेन्द्र अग्रवाल विश्व स्वास्थ्य संगठन लखनऊ के प्रभारी डा0 पुनीत मिश्रा, सी0डी0आर0आई0 के वरिष्ठ  वैज्ञानिक व आई0पी0ए0 अध्यक्ष,  डा0 अमित सिंह प्रान्तीय महामंत्री प्रान्तीय चिकित्सा सेवा संघ, आर0ए0गुप्ता पूर्व सदस्य फार्मेसी कौसिंग आॅफ इण्डिया एवं सचिव आई0पी0ए0 उ0प्र0, श्रवण सचान महामंत्री डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसो0 उ0प्र0, सुशील कुमार त्रिपाठी अध्यक्ष डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन लखनऊ सियाराम रावत पूर्व संयुक्त निदेशक फार्मेसी उ0वप्र0, रजत यादव कोषाध्यक्ष डी0पी0ए0 यू0पी0, आर0आर0 चौधरी (संरक्षक), वीपी सिंह जिला मंत्री, मन मोहन मिश्र, दिलीप तिवारी, जे0के0 सचान अरविन्द वर्मा एवं जनपद के विभिन्न चिकित्सक में कार्यरत चीफ फार्मेसिस्ट एवं फार्मेसिसट ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

 

समारोह को सम्बोधित करते हुये मुख्य अतिथि ने कहा कि गुणवत्ता पूर्व, भेदभाव रहित समग्र स्वास्थ्य सेवा एंव मरीज को संतुष्टि प्रदान करना चिकित्सक, कर्मचारियों का मूल दायित्व एवं मानवता की सच्ची सेवा है समय-समय पर विभिन्न परिवर्तनों की जानकारी देना व इनकी समस्याओं का निदान त्वरित एवं पारदर्शी ढंग से किया जाना अनिवार्य है मैं अपनी ओर से एवं महानिदेशक की ओर से आज के पावन दिन पर आप सबको आश्वस्त करना चाहूंगा कि कार्य में बाधा आने वाली सभी अड़चनें दूर की जायेगी ताकि पूरी मेडिकल टीम और दक्षता से अपने दायित्वों का निर्वहन कर सकें।

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के डा0 पुनीत मिश्रा ने इस आयोजन के प्रति प्रसन्नता व्यक्त करते हुये कहा कि आज के निष्कर्षो पर मैं उच्चाधिकारियों के अवगत करांऊगा ताकि फार्मेसिस्टों की विशिष्टता का लाभ डब्‍ल्‍यूएचओ संचालित योजनाओं में किया जा सकें। उन्होने डब्‍ल्‍यूएचओ के कार्यों पर भी प्रकाश डाला । डा0 राजीव लोचन निदेशक बलरामपुर चिकित्सालय ने आयुष्मान भारत योजना को सफल बननाने में फार्मसिस्टों की सक्रिय भूमि दृष्टिगत आवश्यक प्रशिक्षण दिये जाने एवं इस कार्य में पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिये उन्हें चिकित्सालय में सुरक्षित औषधि प्रेस्क्राइविंग व उपयोग  दृष्टिगत भारत सरकार द्वारा जारी नेशनल फार्मूलरी की प्रति प्रतिनिधि आर0ए0 गुप्ता द्वारा दी गई ।

 

प्रान्तीय चिकित्‍सा सेवा संघ के महामंत्री डा0 अमित ने इस परम्परा को प्रारम्भ करने के लिए आयोजकों को बधाई दी और आश्वासन दिया कि आपकी मांगों की पूर्ति हेतु चिकित्सा संवर्ग हमेशा साथ रहेगा।  डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन के प्रान्तीय महामंत्री श्रवण सचान ने सभी फार्मेसिस्टों / चीफ फार्मेसिस्टों का अवहान किया कि वे विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी संकल्प की पूर्ति हेतु पूर्ण मनोयोग से कार्य करें तथा सरकार एवं डब्लू0एच0ओ0 से मांग की कि फार्मेसिस्टों के समय-समय पर प्रशिक्षण व्यवस्था एवं उनकी दक्षता का उपयोग स्वास्थ उपकेन्द्रों इन्डोर तथा हेल्थ एवं वेलनेस सेन्टर्स में जनहित में अवश्य लिया जाये डा0 जवाहर लाल अध्यक्ष आई0पी0ए0 ने फार्मेसिस्टों को सतत अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए अध्ययन करते रहने की आवश्यकता पर बल दिया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण डीपीए लखनऊ कोषाध्‍यक्ष रजत यादव व संचालन तथा धन्यवाद भाषण डीपीए लखनऊ अध्‍यक्ष व कार्यक्रम संयोजक सुशील कुमार त्रिपाठी ने दिया।