Wednesday , February 1 2023

यूपी के विश्‍वविद्यालयों की रैंकिंग को विश्‍वस्‍तरीय बनाने के लिए ‘उपक्रम’ गठित, एसजीपीजीआई व केजीएमयू की भी भागीदारी

-दस सदस्‍यों वाले उपक्रम में एसजीपीजीआई के प्रो हर्षवर्धन व केजीएमयू के प्रो आरके गर्ग भी

प्रो आरके गर्ग व प्रो आर हर्षवर्धन

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। उच्च शिक्षा विभाग उत्तर प्रदेश और चंडीगढ़ के एनआईडी फाउंडेशन के बीच 27 जुलाई को हुए समझौते के तहत उत्तर प्रदेश सेंटर फॉर रैंकिंग एंड एक्रीडिटेशन मेंटरशिप (उपक्रम) की स्थापना होनी है, इस केंद्र की स्थापना का उद्देश्य राज्‍य में स्थित सभी विश्‍वविद्यालयों और उनसे सम्‍बद्ध कॉलेजों में शिक्षण की गुणवत्ता को बढ़ाकर राष्ट्रीय और वैश्विक स्तर पर रैंकिंग बढ़ाना तथा विश्व स्तरीय विश्वविद्यालयों का निर्माण करना है। इस केंद्र की संरचनात्मक संरचना के अंतर्गत महानिदेशक (डायरेक्टर जनरल) के रूप में नामित लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रो पूनम टंडन के नेतृत्व में 10 शिक्षाविदों व अन्य व्यक्तियों को नामित किया गया है। इनमें संजय गांधी पीजीआई के प्रो आर हर्षवर्धन व किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर आरके गर्ग भी शामिल हैं।

प्रमुख सचिव डॉ सुधीर एम बोबडे द्वारा जारी ज्ञाप के अनुसार इस संगठन में प्रो आर हर्षवर्धन को एसोसिएट डायरेक्टर एक्रीडिटेशन तथा प्रो आरके गर्ग को एसोसिएट डायरेक्टर रिसर्च एंड इनोवेशन पद का दायित्व सौंपा गया है। इनके अलावा छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर के प्रो सुधांशु पांड्या को आइक्यूएसी डायरेक्टर, एमएमएमयूटी, गोरखपुर के प्रो वीएल गोयल को रैंकिंग सेल डायरेक्टर, छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर के प्रो मृदुल के गुप्ता को डाटा एनालिस्ट, लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रो सत्येंद्र पाल सिंह को एसोसिएट डायरेक्टर इंटरनेशनल, लखनऊ विश्वविद्यालय की प्रोफेसर संगीता साहू को एसोसिएट डायरेक्टर प्रशिक्षण, गेस्ट फैकेल्टी दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय व असिस्टेंट प्रोफेसर प्रसाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी लखनऊ एकेटीयू की डॉ अंकिता राज को राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के प्रतिनिधि के रूप में तथा लखनऊ विश्वविद्यालय के अभिज्ञान मिश्रा को सेक्टोरियल असिस्टेंट का दायित्व सौंपा गया है। यह संगठन राज्य के विश्वविद्यालयों की राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग बढ़ाने के साथ उनकी गुणवत्ता तथा शिक्षा की वृद्धि के लिए प्रणालियों और प्रक्रियाओं को विकसित करने में भी सहयोग प्रदान करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.