Wednesday , June 19 2024

नव वर्ष चेतना समिति का इस वर्ष का ‘हिंदू नव वर्ष महोत्सव’ प्रभु श्रीराम को समर्पित

-धूमधाम और हर्षोल्लास से नौ अप्रैल को खाटू श्याम मंदिर प्रांगण में होगा भव्य समारोह का आयोजन, पूर्व संध्या पर 8 अप्रैल को होगा दीपदान

सेहत टाइम्स

लखनऊ। गत वर्षो की भांति इस वर्ष भी नव वर्ष चेतना समिति द्वारा हिंदू नव वर्ष विक्रम संवत 2081 आरंभ होने पर चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पिंगला संवत्सर तदनुसार आगामी 9 अप्रैल को हिंदू नव वर्ष महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। यह महोत्सव श्री खाटू श्याम मंदिर प्रांगण बीरबल साहनी मार्ग लखनऊ पर सायं 6:30 बजे प्रारंभ होगा। इस मौके पर प्रत्येक वर्ष निकलने वाली स्मारिका नव चैतन्य के नौवें अंक का भी विमोचन किया जायेगा। स्मारिका का इस वर्ष का अंक प्रभु श्री राम को समर्पित है, जिसका शीर्षक ‘जन-जन के नायक श्री राम’ है। नववर्ष की पूर्व संध्या यानि 8 अप्रैल को गोमती में दीपदान का कार्यक्रम भी होगा।

यह जानकारी नव वर्ष चेतना समिति के अध्यक्ष डा. गिरीश गुप्ता ने शनिवार 6 अप्रैल को हजरतगंज स्थित हलवासिया कोर्ट में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि इस समारोह के मुख्य अतिथि अंतर्राष्ट्रीय श्री कृष्ण भावना मित्र संघ (इस्कॉन) लखनऊ के अध्यक्ष अपरिमेय श्याम दास होंगे तथा समारोह की अध्यक्षता समिति की मुख्य संरक्षक रेखा त्रिपाठी करेंगी। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्र कार्यवाह डॉ वीरेंद्र जायसवाल को, तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ एलपी मिश्रा व उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन को आमंत्रित किया गया है।

समारोह में ‘जन-जन के नायक प्रभु श्री राम’ को समर्पित सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति राघवेंद्र प्रताप सिंह द्वारा कथक नृत्यांगन से की जाएगी। इस कार्यक्रम का आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ गिरीश गुप्ता और गीता परिवार के अंतर्राष्ट्रीय कार्य अध्यक्ष डॉ आशु गोयल के मार्गदर्शन में किया जा रहा है।

डॉ गुप्ता ने बताया कि सनातन सभ्यता और संस्कृति की अमिट धरोहर भारतीय नव वर्ष को हर्षोल्लास के साथ मनाने के साथ ही नव वर्ष का संदेश जन-जन तक पहुँचाती रही है। उन्होंने बताया कि अपना भारतीय नववर्ष आदिकाल से मुगलकाल तक सर्वसम्मति से मनाया जाता रहा। तदोपरांत अंग्रेजों के शासनकाल में उनके द्वारा अंग्रेजी कैलेंडर लाया गया और लागू किया गया। हम लोग को अपनी परम्परा से विरत करने का प्रयास किया गया, परन्तु आज से लगभग 15 वर्ष पूर्व इस बात को परिलक्षित करते हुए प्रख्यात चिकित्सक पूर्व मेयर वरिष्ठ समाजसेवी डॉ. एस सी राय की अध्यक्षता में भारतीय नव वर्ष को जन-जन तक पहुंचाने के लिए नव वर्ष चेतना  समिति का गठन किया गया। तब से आज तक चैत्र शुक्ल प्रतिपदा भारतीय नव वर्ष पर समारोह का आयोजन किया जा रहा है।

डा. गिरीश ने बताया कि समिति की एक बड़ी उपलब्धि यह रही है कि पूरे भारतवर्ष में विक्रम संवत के प्रणेता सम्राट विक्रमादित्य के ऊपर डाक टिकट को जारी करने का सौभाग्य नव वर्ष चेतना समिति को ही प्राप्त हुआ। उसमें विशेष सहयोग उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक का रहा। साथ ही सरदार पटेल डेंटल कॉलेज के सामने समिति को प्राधिकरण द्वारा एक पार्क प्राप्त हुआ है जिसका नाम सम्राट विक्रमादित्य पार्क रखा गया है।

पत्रकार वार्ता को नव वर्ष चेतना समिति की मुख्य संरक्षक रेखा त्रिपाठी एवं उपाध्यक्ष अजय सक्सेना ने भी सम्बोधित किया। पत्रकार वार्ता में समिति की तरफ से राधेश्याम सचदेवा, डॉ. पुनीता अवस्थी, एडवोकेट राकेश यादव, अरुण मिश्र, मीडिया प्रभारी आनंद पाण्डेय एवं भारत सिंह उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.