Saturday , November 27 2021

कोविड की तीसरी लहर से निपटने के लिए अब तक 269 डॉक्‍टरों-नर्सों को प्रशिक्षण

-प्रशिक्षित किये गये लोग अब जिलों में देंगे दो दिवसीय प्रशिक्षण  

डॉ डीएस नेगी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से पुख्ता तैयारियां चल रही हैं, इस लहर में 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों के प्रभावित होने की संभावना के मद्देनजर की जा रही तैयारियों में अब तक लखनऊ और गौतम बुद्ध नगर स्थित स्किल्‍ड लैब में 91 बाल रोग विशेषज्ञों, 80 अन्‍य डॉक्‍टरों तथा 98 स्टाफ नर्सों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। ये सभी डॉक्‍टर व नर्स अब ट्रेनर बन कर अपने-अपने जनपदों में दूसरे डॉक्‍टरों व नर्सों आदि को प्रशिक्षित करेंगे।

यह जानकारी उत्तर प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ डीएस नेगी ने देते हुए बताया कि प्रशिक्षित किए गए सभी डॉक्‍टर व स्‍टाफ नर्स अपने-अपने जनपदों में ट्रेनिंग देने के साथ ही जिलों में बनाए गए पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट (पीकू) एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में बच्चों के लिए आरक्षित शय्याओं को भी क्रियान्वित करवाएंगे। उन्होंने बताया की जनपदों में यह प्रशिक्षण 2 दिनों के लिए होगा और इसे 3 बैच में दिया जाएगा।

इस प्रकार प्रदेश के सभी जनपदों में पीकू की स्थापना की जाएगी उन्होंने बताया कि मंडलीय चिकित्सालय में 40 शहरों का आईसीयू/एच डी यू एवं 40 ऑक्सीजन युक्त बेड पीकू के लिए तैयार कर लिए गए हैं अन्य जनपदों में 20 बिस्तरों का आईसीयू/ एच डी यू एवं 20 ऑक्सीजन युक्त बेड्स तैयार हो गए हैं। जनपद में चार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 10 ऑक्सीजन युक्त बेड बच्चों के लिए आरक्षित कर दिए गए हैं तथा बच्चों के गंभीर होने पर उपचार के लिए दो बाईपैप मशीन भी प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध कराई जा रही हैं।