Saturday , February 4 2023

हिन्‍दी में चिकित्‍सा पुस्‍तकों के लेखन के लिए प्रो विनोद जैन को सम्‍मान

-इटावा हिन्‍दी सेवा निधि ने वार्षिक अधिवेशन में किया सम्‍मानित

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। इटावा हिन्‍दी सेवा निधि ने केजीएमयू के पूर्व प्रोफेसर डॉ विनोद जैन को उनके द्वारा चिकित्‍सा सेवा और चिकित्‍सा के क्षेत्र में हिन्‍दी में लिखी पुस्‍तकों के लिए डॉ दुखन राम चिकित्‍सा विज्ञान हिन्‍दी सेवा सम्‍मान से नवाजा गया है। ज्ञात हो प्रो जैन ने अब तक हिन्‍दी भाषा में नौ पुस्‍तकें लिखी हैं तथा 10वीं पुस्‍तक लिख रहे हैं।

इटावा के इस्‍लामिया इंटर कॉलेज प्रांगण में शनिवार 10 दिसम्‍बर को इटावा हिन्‍दी सेवा निधि के तीसवें वार्षिक अधिवेशन में आयोजित हिन्‍दी सेवा सम्‍मान समारोह में डॉ विनोद जैन को इस सम्‍मान से नवाजा गया। इस समारोह में मुख्‍य अतिथि के रूप में उच्‍चतम न्‍यायालय के जस्टिस कृष्‍ण मुरारी उपस्थित रहे जबकि समारोह की अध्‍यक्षता जस्टिस सुधीर अग्रवाल ने की।

आपको बता दें कि किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस के बाद एमएस करने वाले प्रो जैन ने अब तक विभिन्‍न विषयों में सैकड़ों अंतर्राष्‍ट्रीय और राष्‍ट्रीय शोध पत्र लिखे हैं। प्रो जैन को चिकित्‍सा क्षेत्र का विख्‍यात बीरबल साहनी पुरस्‍कार के साथ उत्‍तर प्रदेश हिन्‍दी संस्‍थान का विज्ञान भूषण सम्‍मान भी प्रदान किया जा चुका है। केजीएमयू के सर्वश्रेष्‍ठ शिक्षक का पुरस्‍कार प्राप्‍त कर चुके प्रो विनोद जैन ने जो पुस्‍तकें हिन्‍दी में लिखी हैं उनमें पित्‍ताशय के रोग, गुर्दे की पथरी, प्रोस्‍टेट का उपचार आदि प्रमुख हैं। प्रो जैन की कविताओं का संकलन अनुभूति के स्‍वर भी प्रकाशित हो चुका है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ten − 8 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.