कोविड मरीजों को निर्बाध प्राणवायु के लिए केजीएमयू ने लगाया लिक्विड ऑक्‍सीजन प्‍लांट

-कोविड हॉस्पिटल कैंपस में लगे प्‍लांट का शुभारंभ किया कुलपति ने

-रिकॉर्ड समय में तैयार हुआ 20 हजार लीटर की क्षमता वाला टैंक

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोविड-19 के मरीजों के उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली ऑक्सीजन की भरपूर उपलब्धता बनी रहे, इसके लिए किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के आर ए एल सी स्थित कोविड हॉस्पिटल के लिए 20,000 लीटर की क्षमता वाले तरल ऑक्सीजन टैंक की स्‍थापना की गयी है, रिकॉड एक माह से भी कम समय में तैयार किये गये इस टैंक का आज कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉक्टर बिपिन पुरी द्वारा शुभारंभ किया गया।

यह जानकारी देते हुए केजीएमयू के मीडिया प्रवक्ता व उप चिकित्सा अधीक्षक ऑक्सीजन आपूर्ति डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि आरएएलसी कैंपस में अत्याधुनिक सुविधाओं वाले 320 बिस्‍तरों वाले कोविड अस्पताल का आरंभ बीती 11 सितम्‍बर को किया जा चुका है। यहां भर्ती होने वाले कोविड के मरीजों को ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति मिलती रहे, इसके लिए 20000 लीटर की क्षमता के तरल ऑक्सीजन टैंक की स्थापना की गई है। इससे ऑक्‍सीजन की आपूर्ति 5 अक्टूबर से आरंभ की जा चुकी है लेकिन इसका औपचारिक उद्घाटन आज कुलपति द्वारा किया गया है।

उन्होंने बताया की जरूरत को देखते हुए इस ऑक्‍सीजन टैंक की स्थापना का कार्य रिकॉर्ड 1 महीने से कम समय में किया गया है। इस कार्य को शीघ्र अंजाम देने में केजीएमयू के निर्माण विभाग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग सहित लिंडे इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया गया कार्य प्रशंसनीय है। डॉ तिवारी ने बताया कि‍ 2015 से ही 90,000 लीटर की तरल ऑक्सीजन की आपूर्ति पूरे केजीएमयू के अस्पताल को की जा रही है, अब यहां कोविड हॉस्पिटल में 20,000 लीटर के टैंक की स्थापना के पश्चात केजीएमयू में 1,10,000 लीटर की कुल क्षमता के 6 टैंक स्थापित हो चुके हैं।

उन्होंने बताया कि निकट भविष्य में क्‍वीन मैरी अस्पताल में भी 20,000 लीटर के एक टैंक की स्थापना की योजना है। आज के इस समारोह में उप चिकित्सा अधीक्षक ऑक्सीजन आपूर्ति डॉ संदीप तिवारी, वित्त नियंत्रक कमलेश कुमार, कुलसचिव आशुतोष कुमार द्विवेदी, लिंडे इंडिया के इंडिया हेड आरसी कौशिक, अनिर्बान सेन एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।