Thursday , October 28 2021

लंबे इंतजार के बाद भी स्टाइपेंड न बढ़ने से नाराज इंटर्न्स ने किया धरना-प्रदर्शन

-बड़ी संख्या में केजीएमयू के गेट पर धरना-प्रदर्शन किया इंटर्न्स ने

सेहत टाइम्स ब्यूरो
लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में इंटर्न ने अपने स्टाइपेंड को बढ़ाने की मांग को लेकर आज 24 नवंबर को केजीएमयू के गेट पर धरना प्रदर्शन किया।


रेजिडेंट्स डॉक्टर्स एसोसिएशन की अध्यक्ष डॉ कावेरी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कोविड महामारी के समय दूसरे राज्यों में इंटर्न का स्टाइपेंड बढ़ाया जा चुका है वहीं उत्तर प्रदेश में किसी भी मेडिकल संस्थान में इंटर्न का स्टाइपेंड अब तक नहीं बढ़ाया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में मिल रहा स्टाइपेंड बहुत कम है। दूसरे प्रदेशों में यहां के मुकाबले तीन से चार गुना ज्यादा स्टाइपेंड मिल रहा है।

ज्ञात हो कि केजीएमयू में इंटर्न को ₹7000 प्रतिमाह मिलता है जबकि दूसरे प्रदेशों में कहीं 24,000 तो कहीं 30,000 तक स्टाइपेंड दिया जाता है। उन्होंने बताया इस विषय में पिछले लंबे समय से चिकित्सा शिक्षा मंत्री तथा  अधिकारियों से इस विषय में अनुरोध किया जा चुका है, परंतु अभी तक स्टाइपेंड बढ़ा नहीं है। अपनी मांग को लेकर आक्रोशित इंटर्न ने आज बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर केजीएमयू के गेट पर धरना प्रदर्शन किया। अध्यक्ष डॉ कावेरी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कोविड महामारी के समय दूसरे राज्यों में इंटर्न का स्टाइपेंड बढ़ाया जा चुका है वहीं उत्तर प्रदेश में किसी भी मेडिकल संस्थान में इंटर्न का स्टाइपेंड अब तक नहीं बढ़ाया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में मिल रहा स्टाइपेंड बहुत कम है। दूसरे प्रदेशों में यहां के मुकाबले तीन से चार गुना ज्यादा स्टाइपेंड मिल रहा है ज्ञात हो कि केजीएमयू में इंटर्न को ₹7000 प्रतिमाह मिलता है जबकि दूसरे प्रदेशों में कहीं 24,000 तो कहीं 30,000 तक स्टाइपेंड दिया जाता है।

उन्होंने बताया इस विषय में पिछले लंबे समय से चिकित्सा शिक्षा मंत्री तथा अधिकारियों से इस विषय में अनुरोध किया जा चुका है, परंतु अभी तक स्टाइपेंड बढ़ा नहीं है। अपनी मांग को लेकर आक्रोशित इंटर्न ने आज बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर केजीएमयू के गेट पर धरना प्रदर्शन किया।