Tuesday , November 30 2021

प्रोत्‍साहन धनराशि सभी स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को दिये जाने की मांग उठी

-केजीएमयू और संजय गांधी पीजीआई के कर्मचारियों ने उठायी आवाज

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश शासन द्वारा कोविड ड्यूटी करने वाले स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को प्रोत्‍साहन धनराशि दिये जाने के शासनादेश के क्रम में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय और संजय गांधी पीजीआई कर्मचारी महासंघ ने इस प्रोत्‍साहन धनराशि को सिर्फ कोविड ड्यूटी वाले ही नहीं, सभी कर्मियों को देने की मांग की है। केजीएमयू की कर्मचारी परिषद ने अपनी इस मांग के लिए राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद से अनुरोध किया है जबकि एसजीपीजीआई के कर्मचारी महासंघ ने इस मांग को लेकर संस्‍थान के निदेशक को पत्र लिखकर अनुरोध किया है।

केजीएमयू की कर्मचारी परिषद के अध्यक्ष प्रदीप गंगवार व महामंत्री राजन यादव ने राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष महामंत्री को संबोधित पत्र में उनकी इस न्यायोचित मांग को मुख्यमंत्री सहित सभी संबंधित मंत्रियों व अधिकारियों को पहुंचाने का अनुरोध करते हुए कहा है कि पिछले 1 वर्ष से अधिक समय से चिकित्सालयों व चिकित्‍सा संस्थानों में कार्य कर रहे लिपिक संवर्ग, स्टोरकीपर, अकाउंटेंट, कंप्यूटर ऑपरेटर, गार्ड, चपरासी हॉस्पिटल मैनेजमेंट के अंतर्गत कार्य करने वाले डॉक्टर्स, नर्सेज, फार्मासिस्ट, टेक्नीशियन, फिजियोथैरेपिस्‍ट, वार्ड बॉय, सफाई कर्मी अनेक संवर्गों के कर्मी, जो निरंतर सरकारी एवं शासन प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए अपनी क्षमता एवं ड्यूटी अवधि से अधिक कार्य करके चिकित्‍सा व्यवस्था को बनाए रखने में अपना संपूर्ण योगदान दे रहे हैं इन कर्मियों को भी अतिरिक्त प्रोत्साहन भत्ता प्रदान कर उनका मनोबल बढ़ाए रखे जाना न्‍यायोचित प्रतीत होता है।

टीकाकरण और इलाज की तरह प्रोत्‍साहन धनराशि का लाभ भी समान मिले

इसी प्रकार संजय गांधी पीजीआई कर्मचारी महासंघ द्वारा निदेशक को संबोधित पत्र में कहा गया है कि संस्थान प्रशासन और उत्तर प्रदेश शासन द्वारा संस्थान के समस्त कर्मचारियों को हेल्थ केयर वर्कर माना गया है। उसी क्रम में समस्त कर्मचारियों का कोविड टीकाकरण किया गया है और सभी को कोविड संक्रमण होने पर इलाज की भी सुविधा प्रदान की जा रही है। पत्र में कर्मचारियों द्वारा इस कोविड काल में की जा रही सेवाओं को देखते हुए सभी कर्मचारियों, अधिकारियों, संकाय सदस्यों को 25% प्रोत्साहन धनराशि के दिए जाने के लिए शासन से अनुरोध किये जाने का निदेशक से अनुरोध किया गया है।

यहां क्लिक करें आईएमए के विभिन्‍न प्रकार के रोगों के विशेषज्ञों से घर बैठे फ्री में लीजिये परामर्श