उत्तर प्रदेश में हेल्थकेयर एवं फार्मास्यूटिकल क्षेत्र में मिलेगा 50 हजार लोगों को रोजगार

इन्वेस्टर्स समिट में 27 निवेशक करेंगे 6362 करोड़ रुपये का निवेश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में हेल्थकेयर एवं फार्मास्यूटिकल क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिये प्रभावी पहल की है। सरकार का प्रयास है कि इस क्षेत्र के समुचित विकास के साथ ही रोजगार के नये अवसर सृजित होंगे. इस सम्बन्ध में इन्वेस्टर्स समिट में निवेशकों के साथ समझौता पत्र (एम0ओ0यू0) हस्ताक्षरित किये जायेंगे। इस क्षेत्र में ख्याति प्राप्त 27 निवेशकों द्वारा लगभग 6362 करोड़ रूपये का निवेश किया जायेगा।

 

यह जानकारी प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री, सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज यहां दी। उन्होंने बताया कि फार्मास्यूटिकल क्षेत्र के विकास के साथ ही हेल्थकेयर क्षेत्र के विकास के प्रति निवेशकों ने विशेष रूचि प्रदर्शित की है। हेल्थकेयर के क्षेत्र में उद्यमियों द्वारा 5378 करोड़ रूपये तथा फार्मास्यूटिकल क्षेत्र में 984 करोड़ रूपये कुल 6362 करोड़ रूपये का निवेश प्रस्तावित है।

 

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि हेल्थकेयर सेंटर-ग्रेटर नोएडा, नोएडा, यमुना एक्सप्रेस-वे के समीप, लखनऊ, मथुरा, गाजियाबाद एवं मुरादाबाद में शुरू किये जायेंगे। इसी प्रकार फार्मास्यूटिकल इकाईयां-लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, झांसी, हमीरपुर, सीतापुर, कुशीनगर, लखीमपुर-खीरी एवं मेरठ क्षेत्र में स्थापित की जायेंगी। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि हेल्थकेयर क्षेत्र में करीब 37 हजार लोगों को तथा फार्मास्यूटिकल क्षेत्र की इकाइयां स्थापित होने पर लगभग 13 हजार लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ हो सकेंगे।    श्री सिंह ने उम्मीद जतायी कि इन्वेस्टर्स समिट से उत्तर प्रदेश एक ब्रांड के रूप में स्थापित होगा और हर क्षेत्र में निवेश आयेगा।