Sunday , April 14 2024

18 मई के धरना-प्रदर्शन की तैयारी को लेकर कर्मचारियों की बैठक

-गूगल मीट पर सम्‍पन्‍न बैठक में विभिन्‍न कर्मचारी संघों के प्रांतीय पदाधिकारी रहे शामिल

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में आगामी 18 मई को कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा के होने वाले धरना-प्रदर्शन को लेकर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने आज गूगल मीट पर आंदोलन की तैयारी की समीक्षा बैठक की।

महामंत्री अतुल मिश्रा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि बैठक में उपस्थिति अच्छी रही, सभी ने सकारात्मक संदेश दिए।  जनपद में तैयारी की समीक्षा के साथ विभिन्न पहलुओं पर विचार विमर्श किया गया। बैठक की अध्यक्षता सुरेश रावत ने की, बैठक में इप्‍सेफ  के अध्यक्ष वी पी मिश्र भी उपस्थित रहे। सभी जनपदों ने तय किया कि जनजारूकता के लिए सभी संबद्ध संगठन एवं जनपद शाखाओं द्वारा अपने स्तर से तैयारी बैठक की जाएगी जिससे निश्चित ही आंदोलन मजबूत होगा।महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि बैठक में जनपदीय अध्यक्ष, मंत्री, मंडलीय अध्यक्ष, विभिन्न संघों के प्रांतीय पदाधिकारी उपस्थित रहे।

इप्‍सेफ के अध्यक्ष वी पी मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न राज्यों में 18 मई का कार्यक्रम सभी जनपदों में किया जाएगा जिसमें मुख्य रुप से पुरानी पेंशन बहाली, निजीकरण व ठेकेदारी प्रथा रोकने, राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन मुद्दा रखा गया है, वहीं प्रदेश में उक्त मांगों के साथ मोर्चे द्वारा 12 सूत्री मांगों को लेकर  आंदोलन किया जा रहा है।  उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद आंदोलन में प्रमुख भूमिका निभाएगा।

उत्तर प्रदेश के 75 जनपदों के अध्यक्ष /मंत्री एवं परिषद के संबंध घटक राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद, रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद,माध्यमिक शिक्षक संघ, फार्मेसिस्ट फेडरेशन,  एवं विकास प्राधिकरण कर्मचारी, एक्‍सरे टेक्‍नीशियन संघ, ऑप्‍टोमेट्रिस्‍ट संघ, संविदा फार्मासिस्ट एसोसिएशन, यूथ फार्मेसिस्ट फेडरेशन, बेसिक हेल्थ वर्कर एसोसिएशन आदि ने आंदोलन में शरीक होने के बात कही। संगठनों के अध्यक्ष/महामंत्री ने बताया कि जनपद के कर्मचारियों से अपील की जा चुकी है कि 18 मई को धरना में भारी संख्या में उपस्थित होकर इसे कामयाब बनाएं।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरीश मिश्र एवं महामंत्री अतुल मिश्र, चेयरमैन संघर्ष समिति व डी पी ए के अध्यक्ष संदीप बडोला, महामंत्री उमेश मिश्रा, प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव, उपाध्यक्ष व बेसिक हेल्थ वर्कर एसोसिएशन के अध्यक्ष धनंजय तिवारी, एक्‍सरे टेक्नीशियन संघ के अध्यक्ष कुशवाहा, महामंत्री दिलीप कुमार यादव, वन विभाग फ़ेडरेशन के महासचिव आशीष पांडेय,  वन मिनिस्टिरियल संघ के अध्यक्ष राम नरेश यादव, फार्मेसिस्ट फेडरेशन के महामंत्री अशोक कुमार, ऑप्टोमेट्रिस्ट संघ के अध्यक्ष जी एम सिंह, महामंत्री अनुराग मिश्र,  प्रयोगशाला सहायक संघ के महामंत्री बी के सिंह ,राजकीय इण्टर कॉलेज शिक्षक संघ के अध्यक्ष अशोक कुमार गौतम ,गन्ना मिनिस्टिरियल संघ के महामंत्री अभय पांडेय,ट्यूबवेल टेकनिकल एसो के अध्यक्ष प्रदीप त्यागी ,सिचाई संघ के महामंत्री अवधेश मिश्रा ,यूथ फार्मेसिस्ट फेडरेशन के अध्यक्ष आदेश, संविदा फार्मेसिस्ट संघ के अध्यक्ष प्रवीण यादव, उपमहामंत्री पूर्वी आनंद मिश्र, सिचाई राजस्व अधिकारी संघ के महामंत्री नीरज चतुर्वेदी ,संयुक्त राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन कर्मचारी संघ के महामंत्री योगेश उपाध्याय, प्रोवेंशियल फ़िज़ियोथेरेपिस्ट एसो के महामंत्री अनिल कुमार ,समाज कल्याण मिनिस्टिरियल एसो के महामंत्री अनुज श्रीवास्तव सहित प्रदेश के मंडलीय अध्यक्ष ,मंत्री ज़िला अध्यक्ष मंत्री आदि ने अपने विचार रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.