Monday , July 15 2024

भर्ती मरीज को संक्रमण से बचाने के चार तरीके बताये निदेशक ने

-लोहिया संस्थान में नर्सेज को सिखाये गए आईसीयू में होने वाले संक्रमण से बचाव के गुर

-अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त कंपनी के सहयोग से आयोजित हुई एक दिवसीय कार्यशाला

सेहत टाइम्स

लखनऊ। डॉ राम मनोहर लोहिया संस्थान ने अपने नियमित चल रहे नर्सिंग संवर्ग के चिकित्सा शिक्षा प्रशिक्षण को एक नई दिशा प्रदान करते हुए अर्न्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कम्पनी 3एम इंडिया लिमिटेड के सहयोग से आज 13 जून को संस्थान में कार्यरत समस्त नर्सिंग इंर्चाजों के लिए गहन देखभाल जटिलता एवं रोगी प्रबन्धन विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन संस्थान के प्रशासनिक भवन के भूतल स्थित सभागार में किया गया ।

कार्यक्रम को संस्थान के निदेशक प्रोफेसर (डॉ0) सी0एम0 सिंह, की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में संस्थान की मुख्य नर्सिंग अधिकारी सुमन सिंह की मुख्य भूमिका रही। कार्यक्रम में प्रोफेसर अजय कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, प्रोफेसर ए0पी0 जैन, विभागाध्यक्ष सी0टी0वी0एस0 एवं अध्यक्ष मीडिया पी0आर0 सेल, प्रोफेसर एस0 के0 भट्ट, प्रोफेसर पी0के0 दास, विभागाध्यक्ष एनेस्थीसिया क्रिटिकल केयर एव मुख्य नर्सिंग अधिकारी मंचासीन रहे। उक्त कार्यक्रम में संस्थान की नर्सिंग सुपिरिंटेंडेंट व कार्यरत समस्त नर्सिंग इंर्चाज भी मौजूद रहें।

अन्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कम्युनिटी मेडिसिन के विशेषज्ञ निदेशक प्रो0 सी0एम0 सिंह ने सभागार में उपस्थित नर्सिंग सवंर्ग से सीधा संवाद करते हुए किसी बीमारी विशेषकर संक्रमण से चार प्रकार के रोकथामों “प्रिमोडियल/प्राइमरी/सेकेन्डरी/टेरशियरी प्रिवेंशन” के विषय में बताया। उन्होंने 3एम इंडिया लिमिटेड द्वारा दिये जा रहे संक्रमण रोकथाम के प्रति उनके महत्वपूर्ण योगदान की सराहना की। उन्होंने अपने सम्बोधन में कार्यशाला में उपस्थित समस्त नर्सिंग इन्चार्ज को अस्पताल द्वारा जनित संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी को सर्तक रहने के लिए प्रेरित किया। अपने सम्बोधन के दौरान नर्सिंग इर्न्चाजों को बताया कि आपके अधीनस्थ कार्यरत समस्त नर्सिंग प्रोफेशनल को भी इसके प्राथमिक रोकथाम के बारे में जानकारी देने की विशेष आवश्यकता है, जिससे अस्पताल में प्राथमिक संक्रमण को रोका जा सकता है।

प्रोफेसर अजय कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने अपने संबोधन में कहा कि एन0ए0बी0एच0 के गाइडलाइन का अनुसरण करने से हमारे संस्थान में संक्रमण के दर में काफी कमी हुई है। भविष्य में सही प्रैक्टिस बनाए रखने से संक्रमण रोकने में उच्च लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है।

प्रोफेसर ए0पी0 जैन, विभागाध्यक्ष सी0टी0वी0एस0 एवं अध्यक्ष मीडिया प्रभारी ने अपने संबोधन में संस्थान के इस पहल के प्रति नर्सिंग प्रशासन को शुभकामनाएं देते हुए नर्सेस चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशिक्षण के प्रति संस्थान के प्रशासन की कट्बद्धता पर जोर दिया तथा संस्थान की नर्सेस के माध्यम से संक्रमण की रोकथाम के चिकित्सा शिक्षण प्रशिक्षण की ओर संस्थान के नये नेतृत्व की प्रतिबद्धता से अवगत कराया।

इस अवसर पर डा0 पी0के0 दास ने कैथेटर इन्फेक्शन से बचाव के महत्व को बताया एवं इस तरह के प्रशिक्षण को अपने कार्यशैली में लाने पर जोर दिया। उन्होंने आई0सी0यू0 में पाये जाने वाले कामन नोजोकोमियल इन्फेक्शन (अस्पताल में होने वाला इन्फेक्शन) एवं उनसे बचाव के बारे में बताया। दिनभर कार्यशाला को रोचक एवं ज्ञानवर्धक बनाने के लिए कामिनी कपूर, एन0एस0, मुख्य हास्पिटल ब्लाक एवं 3एम से डा0 अस्मिता पाल ने समस्त प्रतिभागी को प्रशिक्षण किया। संस्थान का मीडिया पी0आर0 प्रकोष्ठ प्रोफेसर ए0पी0 जैन, अध्यक्ष मीडिया प्रभारी के नेतृत्व में पी0आर0ओ0 मीना जौहरी एवं नोडल अधिकारी निमिषा सोनकर के साथ सक्रिय रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.