Sunday , December 5 2021

फिट कपड़े पहनने में असहजता ही नहीं गंभीर बीमारी भी दे सकते हैं बड़े स्तन

breast reduction surgery के लिए लखनऊ के तीन सर्जन्स को सेशेल्स बुलाया गया

डॉ वैभव खन्ना

लखनऊ। कटे होंठ व तालू वाले बच्चों की जिंदगी में खुशी लाने वाली अमेरिका की संस्था स्माइल ट्रेन के प्रोजेक्ट डायरेक्टर एवं हेल्थ सिटी हॉस्पिटल के संस्थापक निदेशक वरिष्ठ प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर वैभव खन्ना सहित राजधानी के तीन वरिष्ठ सदस्य शल्य चिकित्सकों को सेशेल्स गणराज्य की समाज सेवी संस्था जियो ज्योति फाउंडेशन इण्डिया द्वारा आमंत्रित किया गया है। डॉ खन्ना के अतिरिक्त इस दल में डॉ रोमेश कोहली और दंत शल्य चिकित्सक डा0 एस.पी.एस. तुलसी शामिल हैं।

 

यहां जारी प्रेस विज्ञप्ति में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि संस्था के तत्वावधान में सेशेल्स में 18 मार्च से 10 दिवसीय जनकल्याण शल्य चिकित्सा शिविर आयोजित किया जा रहा है। डॉ खन्ना सहित तीनों सर्जन को बतौर मुख्य परामर्शकर्ता एवं शल्य चिकित्सक के तौर पर आमंत्रित किया गया है। वरिष्ठ प्लास्टिक सर्जन डा0 वैभव खन्ना 3 सदस्यीय शल्य चिकित्सक दल का नेतृत्व कर रहे हैं।

यह चिकित्सकीय दल मुख्य रूप से breast reduction surgery अर्थात स्तन न्यूनन शल्य चिकित्सा द्वारा उन नवयुवतियों व महिलाओं का उपचार करेगा जो स्तन का आकार बड़ा होने के कारण फिट ड्रेस पहनने में खुद को असहज महसूस करती हैं या फिर ब्रेस्ट का साइज बड़ा होने के कारण शोल्डर पेन, पीठ दर्द जैसी समस्याओं से पीड़ित होती हैं

 

इसके अलावा बड़े ब्रेस्ट के लिए सूजन या गांठ भी परेशानी का सबब बन जाती है। ये परेशानियां कई बार ब्रेस्ट कैंसर के रूप में सामने आती हैं।

इस परेशानी को कम करने के ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी करवाने के साथ रिडक्शन मैम्मोप्लास्टी के
जरिए ब्रेस्ट की पोजीशन, साइज, रीकॉउंटर और रीशेप करने का कार्य डा0 वैभव खन्ना के नेतृत्व में इस दल द्वारा किया जाएगा।

यह जानकारी जियो ज्योति फाउंडेशन इण्डिया के अध्यक्ष सूर्य खन्ना ने देते हुए बताया कि उनका जन्म एवं पालन पोषण लखनऊ में ही हुआ है। वे करीब 50 साल पूर्व सेशेल्स में जाकर बस गए थे। वहीं उन्होंने जियो ज्योति फाउंडेशन इण्डिया की स्थापना की। ज्ञात हो कि आधिकारिक तौर पर सेशेल्स गणराज्य हिन्द महासागर में स्थित 115 द्वीपों वाला एक द्वीपसमूह राष्ट्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − twelve =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.