Friday , February 23 2024

थूकने पर मजबूर करने वाली चीजों पर प्रतिबंध लगायें, ताकि ये संक्रमण न फैलायें

-स्टेट टोबैको कंट्रोल सेल के सदस्य डॉ सूर्यकांत ने सरकार से की मांग

डॉ सूर्यकांत

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के स्टेट टोबैको कंट्रोल सेल के सदस्य डॉ सूर्यकांत ने उत्तर प्रदेश में तंबाकू, सुपारी, पान, पान मसाला, गुटखा आदि की बिक्री एवं उपयोग पर तुरंत प्रतिबंध लगाने की अपील की है।

ज्ञात रहे कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों को तंबाकू उत्पादों, सुपारी आदि पर प्रतिबंध लगाने, थूकने पर प्रतिबंध लगाने तथा जनता को इस दृष्टि से जागृत करने के लिए एक पत्र लिखा है। केजीएमयू के तंबाकू निषेध क्लीनिक के संस्थापक एवं प्रभारी डॉ सूर्यकांत ने बताया की पान तंबाकू, गुटखा, पान मसाला, सुपारी आदि में चबाने पर लार का उत्पादन ज्यादा होता है जिससे व्यक्ति बार-बार थूकता है। कोरोना के इस संक्रमण काल में थूकने पर पूरी पाबंदी लगनी चाहिए क्योंकि इससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा होता है। इसके साथ ही वे सभी पदार्थ जिनसे थूकने की बार-बार इच्छा होती है जैसे तंबाकू, खैनी, पान, पान मसाला, गुटखा, सुपारी आदि के प्रयोग एवं बिक्री पर प्रतिबंध लगना चाहिए तथा जनता को भी इस संबंध में जागरूक करना चाहिए।

डॉ सूर्यकांत ने आगे बताया कि वैसे भी तंबाकू और उसके उत्पादों से 40 तरह के कैंसर व 25 तरह की अन्य बीमारियां होती हैं। तंबाकू और उसके उत्पादों से भारत में प्रतिवर्ष लगभग 12 लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है अतः तंबाकू का उपयोग स्वास्थ्य के लिए वैसे भी बहुत खराब है। डॉ सूर्यकांत ने जनता से आह्वान किया है कि अपने स्तर पर तंबाकू के विरोध में जागृति एवं अभियान चलाएं।