Saturday , February 4 2023

रसोई के मसालों और पौधों की सहायता से बीमारियों का इलाज बतायेगा आयुष विभाग

-23 अक्‍टूबर को वृहद स्‍तर पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ।
आगामी 23 अक्‍टूबर को सातवां आयुर्वेद दिवस के अवसर पर पूरे उत्‍तर प्रदेश में हर दिन हर घर आयुर्वेद कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा, इसमें साधारण बीमारियों के उपचार एवं रोकथाम के लिए घर की रसोई में उपलब्ध मसालों और आसपास उपलब्‍ध पौधों की सहायता से चिकित्‍सा की जानकारी के साथ ही भोजन में इनकी उपयोगिता के बारे में लोगों को जानकारी दी जायेगी।

यह जानकारी देते हुए आयुष विभाग की अपर मुख्‍य सचिव आराधना शुक्‍ला ने बताया कि आयुष मंत्रालय भारत सरकार से प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुरूप आने वाली 23 अक्टूबर को सातवां आयुर्वेद दिवस के अवसर ‘हर दिन हर घर आयुर्वेद’ कार्यक्रम होंगे। उन्‍होंने बताया कि हर दिन हर घर आयुर्वेद के आयोजन के अवसर पर आयुष के प्रति जागरूकता एवं जन भागीदारी सुनिश्चित करने तथा इसको जन आन्दोलन का रूप देने के लिए विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं।

उन्‍होंने बताया कि प्रदेश के आयुष विभाग के अन्तर्गत आने वाले समस्त चिकित्सालयों, चिकित्सा महाविद्यालयों द्वारा जागरूकता रैली, वाद-विवाद प्रतियोगिता, व्याख्यान माला, नुक्कड़ नाटक, चिकित्सा शिविर एवं प्रकृति परिक्षण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

उन्‍होंने बताया कि इन कार्यक्रमों के माध्‍यम से लोगों को बताया जायेगा कि साधारण बीमारियों का इलाज घर बैठे किस तरह किया जायेृ लोगों को बताया जायेगा कि हमारी रसोई में मौजूद चीजें जैसे- लौंग, इलाइची, काली मिर्च, जीरा, अजवाइन, तेजपत्ता, सौंठ, जायफल व आस-पास उपलब्ध पौधों की सहायता से चिकित्सा की जानकारी दी जायेगी, इसके साथ ही भोजन में इसकी उपयोगिता की जानकारी दी जायेगी।


अपर मुख्य सचिव ने बताया कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आम जनता को स्वस्थ एवं निरोग रहने से संबधित जानकारी देना है। इसके साथ ही जनमानस को पर्यावरण के प्रति जागरूक भी करना है। उन्होंने बताया कि साधारण बीमारियों के उपचार एवं रोकथाम के लिए घर की रसोई में उपलब्ध मसालों जैसे- लौंग, इलाइची, काली मिर्च, जीरा, अजवाइन, तेजपत्ता, सौंठ, जायफल व आस-पास उपलब्ध पौधों की सहायता से चिकित्सा की जानकारी दी जायेगी। भोजन में इसके उपयोगिता की जानकारी दी जायेगी।


श्रीमती शुक्ला ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान आम जनता को स्वस्थ जीवन शैली अपनाने के बारे में भी जानकारी दी जायेगी। इसके अतिरिक्त वृद्धावस्था के दौरान होने वाले रोगों का आयुर्वेदिक उपचार, मानसिक आरोग्य में आयुर्वेद की भूमिकाएं एवं महत्ता की जानकारी दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

nineteen − 13 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.