Tuesday , November 29 2022

एसजीपीजीआई में नये विभागों में विभागाध्‍यक्षों की नियुक्ति, कार्ययोजना बनाने के‍ निर्देश

-हेड और नेक सर्जरी विभाग, पीडियाट्रिक एंडोक्राइनोलॉजी विभाग तथा संक्रामक रोग विभाग शुरू करने की तेजी से हो रहीं तैयारियां

-डॉ अमित कुमार केसरी, प्रो वीएल भाटिया तथा प्रो अमिता अग्रवाल को बनाया गया कार्यकारी विभागाध्‍यक्ष

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई में खुल रहे तीन नये विभागों में कार्य शुरू करने के लिए तेजी से तैयारियां चल रही हैं। नये विभागों की मंजूरी मिलने के एक सप्‍ताह के भीतर ही विभागाध्‍यक्षों की नियुक्ति के आदेश जारी कर दिये गये हैं। सिर और गर्दन की सर्जरी, बाल चिकित्सा एंडोक्राइनोलॉजी विभाग और संक्रामक रोग व वैक्सीन अनुसंधान विभाग में विधिवत कार्य प्रारम्‍भ करने की तैयारी की जा रही है, नवनियुक्‍त कार्यकारी विभागाध्‍यक्षों के साथ आज बैठक कर निदेशक ने विभाग के संचालन की कार्ययोजना बनाने को कहा है।

इन विभागों में हेड और नेक सर्जरी विभाग का विभागाध्‍यक्ष न्‍यूरो सर्जरी विभाग की न्‍यूरो ऑटोलॉजी इकाई के डॉ अमित कुमार केसरी को, पीडियाट्रिक एंडोक्राइनोलॉजी विभाग का विभागाध्‍यक्ष एंडोक्राइनोलॉजी के प्रो वीएल भाटिया को तथा संक्रामक रोग विभाग का विभागाध्‍यक्ष क्‍लीनिकल इम्‍युनोलॉजी विभाग की हेड प्रो अमिता अग्रवाल को बनाया गया है।

ज्ञात हो सिर और गर्दन के कैंसर की सर्जरी विभाग खुलने से बड़ी संख्‍या में होने वाले सिर और गर्दन के कैंसर वाले मरीजों का बेहतर और संगठित तरीके से इलाज किया जा सकेगा, जबकि बाल चिकित्‍सा एंडोक्राइनोलॉजी विभाग खुलने के बाद बच्‍चों में मधुमेह, मोटापा, थायराइड और प्रचलित अन्य विकारों के मामलों का इलाज पूरे ध्यान और समर्पण के साथ किया जा सकेगा तथा संक्रामक रोग विभाग स्वाइन फ्लू, जापानी इंसेफेलाइटिस, वायरल हेपेटाइटिस और कोरोना जैसे संक्रामक रोगों से निपटने की दिशा में कार्य करेगा। गले के कैंसर, बाल चिकित्सा जटिलताओं और हाल ही में हुई कोविड महामारी को देखते हुए ये नए विभाग बहुत महत्वपूर्ण हैं। इन नये विभागों के खुलने की मंजूरी संस्‍थान की 21 सितम्‍बर को हुई 96वीं सामान्‍य निकाय की बैठक में दी गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × one =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.