गोरखपुर में बच्चों की मौत के मामले में एक और गिरफ्तार

नौ में से सिर्फ मनीष भंडारी की गिरफ्तारी बाकी

 

लखनऊ. गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बीती 10-11 अगस्त को हुई बच्चों की मौत के मामले में एक और अभियुक्त की गिरफ्तारी हुई है. इस प्रकार अब तक आरोपी जेल की सलाखों के पीछे हैं. अब एक अभियुक्त पुष्पा सेल्स का संचालक मनीष भंडारी को गिरफ्तार किया जाना बाकी है.

 

सीओ गोरखपुर कैंट अभिषेक कुमार सिंह ने बताया कि आज सुबह क्लर्क उदय शर्मा को रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया गया. बाद में उसे अदालत में पेश कर 14 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है. इससे पहले कल चीफ फार्मासिस्ट गजानन जायसवाल ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. उसे भी कोर्ट ने 14 दिन की पुलिस रिमांड पर जेल भेज दिया है. इस काण्ड में सबसे पहले गिरफ्तार हुए निलंबित प्रिंसिपल डॉ. राजीव और उनकी पत्नी डॉ. पूर्णिमा शुक्ला की 14 दिन की रिमांड पूरी होने के बाद फिर से न्यायालय में पेश कर 14 और दिन की पुलिस रिमांड ली गयी थी.

 

ज्ञात हो लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित होने के बाद हुई मौतों की जांच के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी ने जांच कर नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की सिफारिश की थी.