Monday , December 6 2021

संविदा एमपीडब्‍ल्‍यू पुरुषों की प्रशिक्षण की मांग को लेकर चौतरफा गुहार

-भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष को सम्‍बोधित ज्ञापन 40 जिलों में सौंपा

-महानिदेशालय पर भी बेमियादी सत्‍याग्रह 13वें दिन रहा जारी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के 40 जिलों में संविदा एमपीडब्ल्यू पुरुष ने अपने विभागीय प्रशिक्षण कराने की फरियाद मुख्‍यमंत्री तक पहुंचाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष स्‍वतंत्र देव सिंह को सम्‍बोधित ज्ञापन जिलों में भाजपा के जिला अध्‍यक्ष/जिलामंत्री को सौंपा। दूसरी तरफ महानिदेशालय परिवार कल्याण परिसर में संविदा एम.पी.डब्ल्यू. का सत्याग्रह आंदोलन 13 वें दिन भी जारी रहा। लेकिन शासन अब भी मूकदर्शक बना हुआ है। महानिदेशक परिवार कल्याण परिसर में 27 जुलाई से अनिश्चितकालीन सत्याग्रह आंदोलन किया जा रहा है।

संघ के मीडिया प्रवक्‍ता सैयद मुर्तजा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश के अंदर ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए एम.पी.डब्ल्यू. पुरुष फ्रंटलाइन वर्कर है, वर्तमान में प्रदेश के अंदर 20573 स्वास्थ्य उपकेंद्र हैं इन उप केंद्रों के ऊपर एम.पी.डब्ल्यू. पुरुष की तैनाती संक्रामक रोगों के रोकथाम करने के लिए की जाती है, यह कार्मिक मलेरिया, टाइफाइड, हेपेटाइटिस बी, हैजा, कुष्ठ रोग, टीबी, मस्तिष्क ज्वर, इंसेफ्लाइटिस आदि रोगों के रोकथाम प्रबंधन के साथ-साथ घर घर जाकर ब्लड स्लाइड बनाकर संक्रमित व्यक्ति की पहचान करते हैं और प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराते हैं। गंभीरता की स्थिति में संक्रमित व्यक्ति को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजने का काम करते हैं। इसके अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने हेतु ग्रामीण क्षेत्र में साफ-सफाई की व्यवस्था बनाए रखने में भी अपना योगदान करते हैं, जिससे संक्रामक रोगों के पनपने का खतरा कम हो जाता है।

उन्‍होंने बताया कि वर्तमान में 20573 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के सापेक्ष 9080 नियमित तथा 11473 संविदा एमपीडब्ल्यू पुरुष के पद प्रदेश में उपलब्ध हैं, परंतु मात्र 1833 नियमित कर्मचारियों के अतिरिक्त सभी पद रिक्त है इन्हीं संविदा पदों पर वर्ष 2012-13 से लेकर अब तक संविदा एम.पी.डब्ल्यू. कार्य कर चुके हैं जिनको प्रशिक्षण के अभाव में हेल्थ एंड वैलनेस उप केंद्रों पर नियुक्ति नहीं मिल रही है।

संगठन संरक्षक विनीत कुमार मिश्रा ने बताया कि अपनी मांग को लेकर संविदा कर्मचारी गणों ने आज 40 जनपदों में भारतीय जनता पार्टी के जिला कार्यालयों में जिला अध्यक्ष / महामंत्री से मिलकर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को सम्‍बोधित ज्ञापन सौंपा और मांग की कि हमारी इस मांग को प्रदेश अध्यक्ष के माध्यम से मुख्यमंत्री को अवगत करा कर इस समस्या का निस्तारण कराया जाए। संविदा एमपीडब्ल्यू को विभागीय प्रशिक्षण दिलाने के लिए महानिदेशक परिवार कल्याण ने कई बार शासन को प्रस्ताव भेजे, यह मामला विधानसभा की याचिका समिति में भी विचाराधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + 14 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.