Thursday , October 28 2021

‘स्‍वास्‍थ्‍य घर तक’ के बेड़े में 11 बसें और शामिल

-राज्‍यपाल ने हरी झंडी दिखाकर किया उद्घाटन

-घर-घर पहुंच कर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं मुहैया कराती हैं मोबाइल क्‍लीनिक

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। सुपर-स्पेशियलिटी हेल्थकेयर सेक्टर में भारत के अग्रणी स्टार्ट-अप डॉक्टको की सामाजिक पहल ‘स्‍वास्‍थ्‍य घर तक’ ने अपने बेड़े में 11 बसें शामिल कीं जिन्हें आज उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल  ने एक भव्य समारोह में हरी झंडी दिखाई गई। 

राज्यपाल ने उन बसों का उद्घाटन किया, जो अब पांच शहरों – आगरा, अलीगढ़, मेरठ, मथुरा और वाराणसी में लगभग 2.7 मिलियन आबादी को कवर करेंगी।  “स्‍वास्‍थ्‍य घर तक’, जिसे पहले ‘डॉक्टर ऑन व्हील्स’ के नाम से जाना जाता था, को केवल एक बस के साथ कोविड की दूसरी लहर के चरम के दौरान डॉक्टको द्वारा लॉन्च किया गया था। 11 बसों के साथ, यह पहल अब 12 बसों तक बढ़ गई है और भारत के छोटे शहरों और कस्बों में तृतीयक देखभाल लाने पर ध्यान केंद्रित करेगा।

बसें थर्मल स्कैनर, ऑक्सीमीटर, ईसीजी मशीन और अन्य चिकित्सा उपकरणों से लैस हैं और शुरुआती कोविड लक्षणों और मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और कैंसर जैसी अन्य बीमारियों वाले लोगों को बुनियादी दवाएं और उपचार लिखेंगे, साथ ही प्रत्येक बस में तीन सदस्यीय मेडिकल स्टाफ और एक डॉक्टर उपलब्ध रहेगा।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा: ” डॉक्टको की ‘स्वस्थ घर तक’ जैसी एक नेक पहल को हरी झंडी दिखाना एक शानदार एहसास है क्योंकि हम भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। भारत एक महामारी से जूझ रहा है जिसे हमने पहले नहीं देखा है। मुझे उम्मीद है कि यह पहल न केवल इस महामारी से लड़ने में हमारी मदद करेगी बल्कि भारत के दूर-दराज के कस्बा और शहरों को गुणवत्तापूर्ण और सस्ती स्वास्थ्य सेवा भी प्रदान करेगी। मैं उन्हें शुभकामनाएं देती हूं।

डॉक्टको के संस्थापक निमिथ अग्रवाल ने कहा: “हम 11 नई बसों को जोड़कर अपनी सामाजिक पहल ‘स्‍वास्‍थ्‍य घर तक’ का विस्तार करने के लिए बेहद खुश हैं। जब हमने केवल एक बस के साथ इस पहल को शुरू किया तो हमें जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली थी। हमें इन वाहनों की संख्या में वृद्धि करके पहल का विस्तार करने के लिए इसने प्रोत्साहित किया। ‘स्‍वास्‍थ्‍य घर तक’ का उद्देश्य टियर -2 और 3 कस्बा और शहरों में गुणवत्तापूर्ण, तत्काल और भरोसेमंद चिकित्सा उपचार प्रदान करना है। अपने अगले चरण में हम विस्तार करेंगे। देश के अन्य हिस्सों में भी इस सामाजिक पहल की शुरुआत करेंगे।

इस कार्यक्रम में डॉक्टको के सह-संस्थापक कर्नल हेमराज परमार, डॉ. नीलम मोहन, सलाहकार डॉक्टर, प्रवीर अग्रवाल, विश्व स्वास्थ्य समूह और डॉ.ए.पी. माहेश्वरी (उपराज्यपाल के पूर्व सलाहकार, पुडुचेरी और डीजी सीआरपीएफ), संरक्षक, लंग केयर फाउंडेशन मौजूद थे।

डॉ एपी माहेश्वरी ने कहा कि अच्छी स्वास्थ्य सुविधा प्राप्त करना एक मौलिक स्वतंत्रता है। स्वतंत्रता के इस अमृत महोत्सव वर्ष में, हम अपनी विनम्र सेवाओं और गर्व की भावना के साथ राष्ट्र को बधाई देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 2 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.