शराबबंदी की आड़ में होम्यो चिकित्सकों का उत्पीडऩ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के होम्योपैथिक चिकित्सकों ने बिहार में शराब बन्दी की आड़ मेें सरकार द्वारा होम्योपैथिक चिकित्सकों का उत्पीडऩ किये जाने की निन्दा की है तथा  चिकित्सकों के प्रति समर्थन व्यक्त करते हुए सरकार से तत्काल उत्पीडऩात्मक कार्यवाही बन्द किये जाने की मांग की है।
होम्यो क्लीनिक्स, दवा प्रतिष्ठान किये जा रहे सील
केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद केे वरिष्ठ सदस्य डा0 अनुरुद्ध वर्मा ने कहा है कि बिहार पुलिस एवं आबकारी विभाग ड्रग्स एवं कास्मेटिक एक्ट के प्राविधानों की गलत व्याख्या कर होम्योपैथिक दवाइयों को शराब के साथ जोडक़र होम्योपैथिक क्लीनिक्स एवं दवा प्रतिष्ठानों पर छापा मारकर सील कर रही है तथा उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज रही है जिससे चिकित्सकों में भय और आतंक का माहौल व्याप्त है और राज्य के लगभग 40 हजार चिकित्सकों के दवाखाने एवं हजारों होम्योपैथिक स्टोर बन्दी के कगार पर हैं इससे चिकित्सकों में भय व्याप्त है। सरकार की दमनकारी नीतियों के कारण बिहार में होम्योपैथी का विकास लगभग ठप है जिससे राज्य के होम्योपैथिक चिकित्सकों में रोस व्याप्त है।
उन्होंने कहा है कि होम्योपैथिक दवाइयां एल्कोहल में ही बनायी जाती है इसलिये उन्हें शराब की श्रेणी में रखना एक लोकप्रिय और जनहितकारी चिकित्सा पद्धति का अपमान है। उन्होंने कहा कि होम्योपैथी के अविष्कार के लगभग 200 वर्ष बाद भी किसी को भी होम्योपैथिक दवाई से नुकसान नहीं हुआ।
उत्पीडऩ पर बिहार सरकार तत्काल रोक लगाये
उन्होंने बिहार सरकार से मांग की है कि प्रदेश में होम्योपैथिक चिकित्सकों के उत्पीडऩ पर तत्काल रोक लगाई जाय तथा प्रदेश में होम्योपैथिक की विकास की योजनायें लागू की जाये क्योंकि होम्योपैथी द्वारा कम लागत में बिहार की जनता को स्वास्थ्य की सुविधायें उपलब्ध करायी जा सकती है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के होम्योपैथिक चिकित्सकों का एक दल शीघ्र ही बिहार के चिकित्सकों के आन्दोलन के समर्थन में बिहार जायेगा।
रिसर्च सोसायटी आफ होम्योपैथी के अध्यक्ष डॉ. सीपी सिंह प्रान्तीय होम्योपैथी चिकित्सा सेवा संघ के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एफबी वर्मा, डॉ. बीबी सिंह नवाब पूर्व महासचिव डॉ. बलिराम, होम्योपैथिक मेडिकल एसोसियेशन आफ इण्डिया के राष्ट्रीय आयोजन सचिव डॉ. एके सिंह, होम्योपैथिक साइंस कांग्रेस सोसायटी के अध्यक्ष डॉ. केसी सारस्वत एवं महासचिव डा आरएस यादव ने बिहार के होम्योपैथिक चिकित्सकों की मांगों का समर्थन करते हुए उनके प्रति एकजुटता व्यक्त की है।