Wednesday , August 17 2022

जिम्मेदार ही कर रहे गैर जिम्मेदाराना हरकत

चिकित्सा-स्वास्थ्य से जुड़े संस्थानों में ही मिले बीमारियों के मच्छर

लखनऊ। मच्छरजनित रोगों से बचाव के लिए कदम उठाने के सख्त कदम के शासन के निर्देश के तहत राजधानी के कुछ सरकारी प्रतिष्ठानों आदि की जांच की गयी तो चिकित्सा और स्वास्थ्य से जुड़े स्थानों सहित कुल 20 जगहों पर मच्छर जनित स्थितियां पायी गयीं। ज्ञात हो जिस विभाग पर इन बीमारियों को नियंत्रित करने और इनसे निपटने की जिम्मेदारी है, उनका ही यह हाल है। इन कार्यालयों के हेड या विभागाध्यक्षों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन की विभिन्न धाराओं के तहत नोटिस जारी की गयी।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार जिन स्थानों पर मच्छरजनित स्थितियां मिलीं उनमें कार्यालय वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, आर्टीफिशियल लिम्ब सेंटर, केजीएमयू, राज्य स्वास्थ्य संस्थान, इन्दिरा नगर, ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर, नगरीय स्वास्थ्य सामुदायिक केन्द्र, इन्दिरा नगर, इरम गल्र्स डिग्री कॉलेज, कार्यालय अधीक्षण अभियन्ता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग इन्दिरा नगर, कार्यालय खंड विकास अधिकारी, इन्दिरा नगर, कार्यालय अधिशासी अभियन्ता इन्दिरा नगर, विकास भवन एवं बिग बाजार इन्दिरा नगर शामिल हैं।

सघन जलजनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम को दिखायी हरी झंडी

इससे पूर्व इन्दिरा नगर स्थित बाल महिला चिकित्सालय से सघन जलजनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तीसरे दिन का शुभारम्भ संयुक्त निदेशक मलेरिया डॉ एके शर्मा द्वारा हरी झंडी दिखाकर किया गया। एंटी लार्वा स्प्रे टीमों द्वारा चार वार्डों के 41 मोहल्लों में सघन रूप से लार्वारोधी रसायन का छिडक़ाव किया गया। छिडक़ाव दल के साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी, वरिष्ठ कीट वैज्ञानिक एवं सहायक मलेरिया अधिकारियों के अलग-अलग दलों द्वारा विभिन्न सरकारी प्रतिष्ठानों में कूलर, गमलों, पानी की टंकियों का निरीक्षण किया गया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × three =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.