Friday , December 3 2021

डेंगू से लखनऊ में दो की मौत, 18 बीमार

सारिका चक्रवर्ती के घर पर एंटी लार्वा का छिड़काव

स्वाइन फ्लू के भी अब तक 17 मरीज, चिकनगुनिया से 48 प्रभावित

लखनऊ। इस वर्ष यानी जनवरी से अब तक डेंगू से दो लोगों की मौत हुई है, इन दोनों के घरों व आसपास के स्थानों पर ऐंटी लार्वा का छिडक़ाव करा दिया गया है। इसके अलावा 18 लोगों के डेंगू से ग्रस्त होने की सूचना प्राप्त हुई है, इसी प्रकार स्वाइन फ्लू यानी एच1एन1 से 17 लोगों के ग्रस्त होने की सूचना है जबकि दो माह पूर्व एक व्यक्ति की मृत्यु हो चुकी है। इसके अतिरिक्त अब तक 48 केस चिकनगुनिया के भी सामने आये हैं।
यह जानकारी लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ जीएस बाजपेई ने गुरुवार को अपने कार्यालय पर बुलायी प्रेस वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि जिला मलेरिया अधिकारी और हमारी टीमें लगातार सघन जलजनित रोगों के नियंत्रण अभियान में जुटी हुई हैं। इसके तहत जहां ऐंटी लार्वा का छिडक़ाव किया जा रहा है वहीं डेंगू मच्छर के लार्वा पाये जाने वाली स्थितियां भी सामने आ रही हैं, ऐसे संस्थानों को 24 घंटे में सफाई कराने का नोटिस दिया जा रहा है।

फिरोजाबाद से आकर तेलीबाग में जहाँ आयु ठहरी थी , उस घर पर भी कराया गया एंटी लार्वा का छिड़काव

दोनों मृतकों के घर व आसपास करायी गयी रोग निरोधात्मक कार्रवाई

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि एफ ब्लॉक राजाजीपुरम लखनऊ की रहने वाली 36 वर्षीया सारिका चक्रवर्ती को तेज बुखार के कारण बीती 3 जुलाई को किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया था जहां 6 जुलाई को उनकी मृत्यु हो गयी। जबकि फिरोजाबाद के रहने वाले संतोष की तीन वर्षीया पुत्री आयु की भी केजीएमयू में ही 8 जुलाई को मौत हो गयी। आयु बीती 2 जुलाई को फिरोजाबाद से लखनऊ तेलीबाग आयी थी, उसे 3 जुलाई को बुखार आया। डॉ बाजपेई ने बताया कि दोनों मृतकों के आवास और उसके आसपास बचाव दल ने सफाई कराते हुए अन्य लोगों को डेंगू से ग्रस्त होने से रोकने के लिए आवश्यक कार्यवाही की गयी है। उन्होंने बताया कि मृतका सारिका के घर की छत पर चार टायर पाये गये जिनमें मच्छर के लार्वा थे। ऐंटी लार्वा डालकर टायरों को खाली किया गया तथा पूरे क्षेत्र मेंं लार्वारोधी रसायन का छिडक़ाव किया गया।

16 और जगहों पर मिले डेंगू के लार्वा

वेक्टर जनित रोगों की रोकथाम के लिए सीएमआे डॉ.जीएस बाजपेई के निर्देश पर शहर के 43 इलाकों में लार्वा रोधी रसायन का छिडक़ाव किया गया। डॉ. बाजपेई ने बताया कि अभियान में मुख्य रूप से चार वार्डों को शामिल किया गया जिसमें मौलाना कल्वे आविद वार्ड प्रथम,चौक काली जी वार्ड, शीतला देवी वार्ड और अम्बरगंज वार्ड के मोहल्ले शामिल थे। उन्होंने बताया कि 20 स्थानों पर गहन जांच में पाया गया 16 स्थानों पर मच्छर जनित परिस्थितियां मौजूद थीं। इस पर सीएमआे की टीम ने नाराजगी जतायी। सीएमआे ने सभी को नोटिस जारी करते हुए जल्द से जल्द स्थितियों में सुधार करने की हिदायत दी गयी। जिन इमारतों के प्रमुख को नोटिस जारी किया गया, उनमें कृषि निदेशक, कृषि निदेशालय, कृषि भवन, बी-वन बटलर पैलेस, कोतवाली चौक, अशोक साहू कंचन मार्केट चौक, खुन- खुन जी महाविद्यालय चौक, ऑक्सफोर्ड पब्लिक इंटर कालेज चौक, राजकीय हुसैनाबाद इंटर कालेज, अरबन आरसी एच नोडल यूनिट के ऊपर वाजिद अली इल्वे मैदान शरगा पार्क के पास वाजिद अली कल्वे आबिद वार्ड प्रथम, जजेज कालोनी परिसर, रिवर बैंक कॉलोनी, प्रधानाचार्य, यूनिटी कॉलेज, यूनिटी, इंस्डस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, प्रधानाचार्य कालीचरण इंटर कालेज, कंपनी कमांडर छह बटालियन पीएससी एवं कालीचरण पीजी कॉलेज लखनऊ इत्यादि इमारत प्रमुख हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + three =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.