Saturday , October 16 2021

बलरामपुर के महिला अस्पताल में हुई चोरी, 30.75 लाख रुपये का सामान उड़ा ले गए चोर

8 वार्डों का ताला तोड़कर ऑक्सीजन और एयर कंडीशनर के पाइप तक उखाड़ ले गए चोर

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले के जिला महिला चिकित्सालय में 30.75 लाख रुपए का चोरी हुई है. बताया जाता है कि चोर 8 वार्डो का ताला तोड़कर न सिर्फ कीमती सामान बल्कि प्रसूताओं और मासूमों को जिंदगी देने वाली संजीवनी, ऑक्सीजन की पाइप तक को काट ले गए, जिससे पूरे अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई ध्वस्त हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चोर इसकदर शातिर थे कि उन्होंने सीसीटीवी कैमरों को भी धोखा देते हुए 10 कैमरों को भी अपने साथ ले गए। महिला अस्पताल की सीएमएस ने कोतवाली नगर में तहरीर देकर एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस अब चोरों की तलाश में जुट गई है।

हुआ यूँ कि यहाँ के जिला महिला चिकित्सालय में बने पीपी भवन में चैनल व 8 वार्डो का ताला तोड़कर चोर सेंट्रल आक्सीजन सप्लाई के सारे पाइप काट ले गए। पाइप काटे जाने से जहाँ आर्थिक नुकसान हुआ है वहीँ पूरे अस्पताल की ऑक्सीजन और एयर कंडिशनर चोरों के इस कारनामें से अस्पताल की आक्सीजन सप्लाई पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। चोरों ने एसी के सारे पाइप और आउटरों को तोड़कर उसके अंदर का सारा सामान निकाल ले गए। जिससे चिकित्सालय में एसी व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त हो गई। बताया जा रहा है कि चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम देने से पहले चिकित्सालय परिसर में लगे सीसीटीवी की लाइन ने काट दी और 10 सीसीटीवी कैमरे भी उखाड़ ले गए।

 

चोरी की इस वारदात में चोरों ने अस्पताल के करीब 30 लाख 75 हजार के सामान पर हाथ साफ कर दिया और किसी को कानों कान भनक तक नहीं लगी। चोरी की इस बड़ी वारदात के बाद अस्पताल की आक्सीजन सप्लाई ठप है। फिलहाल प्रसव व आपरेशन कक्ष में सिलिंडर से आक्सीजन की सप्लाई की जा रही है। चोरी की इस बड़ी वारदात के बाद हरकत में आई पुलिस घटना की छानबीन में जुट गई है। एएसपी एस.के सिंह ने बताया कि सीएमएस से मिली तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। मौके पर फ़ोरेंसिक टीम भेजकर साक्ष्य संकलन करा लिए गए हैं कि किन परिस्थितियों में अस्पताल में चोरी हुई है, उसकी छानबीन की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com