Thursday , January 20 2022

टूटी पसली से कटी हृदय की मुख्‍य धमनी, जटिल बाईपास सर्जरी से युवक को नया जीवन

-मेदांता हॉस्पिटल के कार्डियोथोरासिक सर्जरी विभाग में हुई जटिल सर्जरी

लखनऊ। सड़क दुर्घटना में टूटी हुई पसलियों से कटी हृदय की मुख्‍य धमनी के चलते हुए जबरदस्‍त हृदयाघात वाले युवक को जटिल ऑपरेशन से मेदान्‍ता अस्‍पताल में नया जीवन मिला है।

कार्डियोथोरासिक सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ गोरंगो मजूमदार एवं उनकी टीम द्वारा इस 22 वर्ष के युवक के दिल की बाईपास सर्जरी सफलतापूर्वक की गयी थी, अब युवक पूरी तरह से स्‍वस्‍थ है। डॉ मजूमदार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस युवक का कुछ दिनों पहले रोड एक्सीडेंट हुआ था, जिसमें उसके मस्तिष्क पर और पसलियों में काफी गंभीर चोटें आयीं थी। उन्‍होंने बताया कि उसकी टूटी हुई पसली ने उसकी ह्रदय की मुख्य धमनी को काट दिया था जिससे उसके ह्रदय में रक्त का प्रवाह कम हो गया था, जिसके कारण उसको ज़बरदस्त ह्रदयाघात पहुंचा था और ह्रदय के काम करने की क्षमता 10% ही रह गया थी।

डॉ मजूमदार ने बताया कि ऐसी स्थिति में ऑपरेशन का निर्णय लेना बहुत की कठिन था किन्तु उन्‍होंने एवं उनकी टीम ने यह हाई रिस्क ऑपरेशन करने का निर्णय लिया और सफलतापूर्वक यह बाई पास सर्जरी की। सर्जरी के बाद यह युवक आज पूरी तरह स्वस्थ है और उसका ह्रदय पहले से बेहतर काम कर रहा है।

मेदांता लखनऊ के कार्डियोथोरासिक सर्जरी विभाग की इस टीम ने, डॉ गोरंगो मजुमदार के निर्देशन में, अब तक कई तरह की जटिल हार्ट सर्जरी, जैसे – रेएर बाईपास सर्जरी एवं एक ही व्यक्ति की दूसरी बार हार्ट वाल्व सर्जरी, टोटल- आर्टेरियल बाई-पास सर्जरी (इन रीनल फेलियर पेशेंट्स) सफलतापूर्वक की हैं।