Monday , December 6 2021

परिजनों को कोरोना टीका जरूर लगे तभी सुरक्षित रहेगी गर्भवती और होने वाला शिशु

-माल और मलिहाबाद सीएचसी का निरीक्षण किया स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। बुधवार को चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं मातृ शिशु कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने माल और मलिहाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर आयोजित प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- हर माह की नौ तारीख़ को आयोजित होने वाले पीएमएसएमए का उद्देश्य सभी गर्भवतियों को कम से कम एक बार एमबीबीएस डॉक्टर द्वारा जांच करना एवं उनका इलाज करना है, ताकि उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाओं को चिन्हित कर उन्हें उचित इलाज मुहैया कराया जाये। यदि गर्भवतियों का सही समय से इलाज हो जायेगा तो होने वाला बच्चा भी स्वस्थ होगा। कोरोना संक्रमण के दौरान तो हमें विशेष ध्यान रखना है। हमें इस दौरान अधिक से अधिक महिलाओं की जांच कर उनका इलाज करना है, साथ ही यह भी ध्यान दें कि जिन गर्भवतियों को टिटनेस के टीके नहीं लगे हैं, उन्हे टीके लगें।

गर्भवतियों और उनके साथ आने वाले परिवार के सदस्यों को कोरोना से बचाव के प्रोटोकॉल्स के बारे में भी जानकारी दें कि वह इनका पालन करें और साथ ही गर्भवती को छोड़कर उनके परिजनों को टीका लगवाने के लिए भी प्रेरित करें। कोरोना से बचाव का एकमात्र कारगर उपाय टीका है, यदि वे टीका लगवा लेंगे तो वह स्वयं तो सुरक्षित हो ही जायेंगे साथ में गर्भवती भी सुरक्षित हो जायेगी और गर्भ में पल रहा बच्चा भी सुरक्षित होगा।

इसके अलावा गर्भवतियों और उनके साथ आने वाले परिवार के सदस्यों को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में भी जानकारी दें और साधन अपनाने हेतु प्रेरित करें। उन्होंने सभी आशाओं को मानदेय के भुगतान करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा- हर माह की 21 तारीख़ को स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयोजित होने वाले खुशहाल परिवार दिवस के अवसर अधिक से अधिक लोगों को परिवार निजोजन की सेवाओं का लाभ दिया जाए।

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने सीएचसी पर ओपीडी और 18 से 44 वर्ष के तथा 45 वर्ष से आयु के अधिक के लोगों के लिए चल रहे टीकाकरण केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां पर दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का भी जायजा लिया। जय प्रताप सिंह ने सीएचसी पर भर्ती से प्रसूताओं से बात भी की और उनका हाल चाल जाना।

यह भी पढ़ें- जिम्‍मेदारों से आग्रह, स्‍कूल का खोलने का फैसला तभी लीजियेगा जब…

इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.संजय भटनागर, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. आर.के.चौधरी, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मिलिंद वर्धन, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सतीश यादव, जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक (बीसीपीएम) विष्णु प्रताप, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुधीर वर्मा, सीएचसी माल के चिकित्साधीक्षक डॉ. विवेक और सीएचसी मलिहाबाद के चिकित्साधीक्षक डॉ. अवधेश उपस्थित थे।