Monday , July 15 2024

केजीएमयू के ब्लड बैंक में जल्द शुरू होगा अत्याधुनिक संक्रमणरोधी मशीन का संचालन

-वाराणसी में एसएसपीजी डिविजनल जिला अस्पताल तथा आगरा के एलएलडी महिला अस्पताल में नए यूनिट्स की प्रक्रिया भी हुई तेज

सेहत टाइम्स

लखनऊ। उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की दिशा में कार्यरत योगी सरकार प्रदेश की जनता को स्वास्थ्य का वरदान देने की दिशा में भी निरंतर प्रयासरत है।लोकसभा चुनाव निपटने के बाद अब फिर से उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के उच्चीकरण की प्रक्रिया को गति देने का काम शुरू कर दिया गया है। सीएम योगी के निर्देश पर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए जिस विस्तृत कार्ययोजना का निर्माण किया गया था उस पर क्रियान्वयन शुरू हो गया है। इस क्रम में, जहां लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन (ब्लड बैंक) में कोबास एस 201 सिस्टम तथा फुली ऑटोमेटेड वॉक अवे सिस्टम के संचालन की प्रक्रिया शुरू की गई है। वहीं वाराणसी में 500 बेड युक्त मल्टी सुपर स्पेशेलिटी चिकित्सालय (श्री शिवप्रसाद गुप्त मण्डलीय जिला चिकित्सालय-एसएसपीजी) तथा आगरा में 150 बेड वाले एलएलडी (लेडी लॉयल) जिला महिला अस्पताल के कायाकल्प व नवनिर्माण की मॉनिटरिंग के लिए योजना विभाग द्वारा प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कन्सल्टेंट्स की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इन दोनों प्रोजेक्ट्स की प्रक्रिया ईपीसी (इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट व डिजाइन) माध्यम से जारी है।

सरकारी प्रवक्ता के अनुसार लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन (ब्लड बैंक) में कोबास एस 201 सिस्टम तथा फुली ऑटोमेटेड वॉक अवे सिस्टम के संचालन की प्रक्रिया शुरू की गई है। आपको बता दें कि कोबास एस 201 सिस्टम फुली ऑटोमेटेड न्यूक्लिक एसिड टेस्टिंग (एनएटी) इनेबल्ड है जिससे यह रक्त सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान करता है, जबकि फुली ऑटोमेटेड वॉक अवे सिस्टम के जरिए ग्रुपिंग टेस्ट्स का मार्ग प्रशस्त होगा। ब्लड ग्रुपिंग, क्रॉस मैच टेस्ट, एंटीबॉडी स्क्रीनिंग टेस्ट, रीसस ग्रुप कन्फर्मेशन (वीक डी आइडेंटिफिकेशन), डायरेक्ट कूम्ब्स टेस्ट (डीसीटी) तथा एंटीजन एक्सटेंडेड फेनोटाइपिंग जैसी प्रक्रियाओं को पूर्ण करने में ये मशीनें सहायक होंगी और इससे नागरिकों को उत्तम स्वास्थ्य सेवाएं मिलने का मार्ग प्रशस्त होगा।

इसके अलावा वाराणसी में 500 बेड युक्त मल्टी सुपर स्पेशेलिटी चिकित्सालय के अंतर्गत 5.55 एकड़ में 161 करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत से इस नवनिर्माण कार्य को पूरा किया जा रहा है। ऐसे में, योजना विभाग द्वारा प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कन्सलटेंट्स (पीएमसी) की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पीएमसी यूनिट की तैनाती के साथ ही 75 दिन में आर्किटेक्चरल डिजाइन कन्सलटेंसी, 18 महीने में निर्माण कार्य तथा 36 महीने के डिफेक्ट लाइबेलिटी समयावधि में सभी कार्यों को पूर्ण कर लिया जाएगा।

विकास कार्यों की रेगुलर मॉनिटरिंग होगी सुनिश्चित

आगरा के एलएलडी (लेडी लॉयल) जिला महिला अस्पताल में 150 बेड वाले यूनिट को 5 एकड़ क्षेत्र में 100 करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत से विकसित किया जा रहा है। ऐसे में, पीएमसी एजेंसी की तैनाती से यहां होने वाले विकास कार्यों की रेगुलर मॉनिटरिंग सुनिश्चित हो सकेगी तथा 75 दिन में आर्किटेक्चरल डिजाइन कन्सलटेंसी, 18 महीने में निर्माण कार्य तथा 36 महीने के डिफेक्ट लाइबेलिटी समयावधि में सभी कार्य पूर्ण हो सकेंगे। सभी कार्यों को पूर्ण करने के लिए पीएमसी द्वारा डीटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) सौंपी जाएगी जिसके आधार पर निर्माण कार्यों में तेजी लाने का मार्ग प्रशस्त होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.