केजीएमयू में टेलीमेडिसिन से स्‍पेशियलिटी और सुपर स्‍पेशियलिटी की भी ओपीडी

-ईसंजीवनी के तहत 12 अप्रैल से सोमवार से शनिवार तक प्रात: 9 से दोपहर 2 बजे तक चलेगी ओपीडी

-कोविड काल में भौतिक ओपीडी बंद होने के चलते शुरू की जा रही है यह सेवा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के बाद संक्रमण को रोकने के दृष्टिकोण से किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय (केजीएमयू) द्वारा ईसंजीवनी के माध्‍यम से स्‍पेशियलिटी और सुपर स्‍पेशियलिटी सेवाओं की ओपीडी संचालित करने का फैसला किया गया है। यह सेवाएं प्रत्‍येक सोमवार से शनिवार तक सुबह 9:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक उपलब्ध रहेंगी। इन सेवाएं सेवाओं के तहत घर बैठे केजीएमयू के विशेषज्ञ द्वारा बिल्कुल मुफ्त परामर्श मिल सकेगा।

ज्ञात हो केजीएमयू द्वारा 12 अप्रैल से कुछेक आवश्यक विभागों को छोड़कर शेष सभी विभागों की ओपीडी भौतिक रूप से बंद करने की घोषणा की चुकी है ऐसी स्थिति में घर बैठकर चिकित्सक से फोन और वीडियो कॉलिंग के जरिए परामर्श लेना अत्यंत लाभप्रद होगा।

इस बारे में जानकारी देते हुए ईसंजीवनी टेलीमेडिसिन की केजीएमयू की नोडल प्रभारी डॉ शीतल वर्मा ने बताया की कुलपति के मार्गदर्शन में केजीएमयू कल से 12 अप्रैल से ईसंजीवनी विशेषज्ञ और सुपर स्पेशलिटी ओपीडी सेवाएं शुरू कर रहा है। उन्होंने बताया कि सीडीएसी और एनएचएम यूपी के सहयोग से चलने वाले इस सिस्टम के तहत मरीज सीधे अपने घरों पर बैठकर ही मनचाहे सलाहकार के साथ बातचीत कर सकते हैं और इस तरह कोविड-19 के संपर्क में आने के जोखिम से बच भी सकेंगे। उन्‍होंने बताया कि इस प्रणाली के तहत प्रत्येक डॉक्टर रोज 25 से 50 रोगियों को अपने कक्ष में बैठकर ऑनलाइन देख सकेगा।

उन्होंने बताया कि इस सेवा के माध्यम से जिन विभागों के विशेषज्ञों से मरीज सलाह दे सकता है उनमें मेडिसिन, रेस्पिरेट्री मेडिसिन, स्त्री एवं प्रसूति रोग, हृदय रोग, सर्जरी, मनोचिकित्सा, त्वचा रोग, हड्डी एवं जोड़ रोग, नेत्र रोग, कान नाक एवं गला रोग, दंत रोग शामिल हैं।

डॉ शीतल ने बताया इसके लिए गूगल प्ले स्टोर में जाकर ईसंजीवनी ओपीडी ऐप को इंस्टॉल करें या www.eSanjeevaniOPD.in   पर जाएं इसके बाद पेशेंट रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करें इसके बाद अपना मोबाइल नंबर डालें, मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा जिसे कंफर्म करने पर रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। इसके बाद डॉक्‍टर से कैसे बात कर सकते हैं इस सभी बातों को एक चित्र के माध्‍यम से समझाया गया है।

ईसंजीवनी में दिखाने के लिए यह करना होगा