Wednesday , January 26 2022

धूम्रपान ही नहीं, दूसरे धुएं से भी होती है सीओपीडी

11 अगस्‍त को मुम्‍बई, दिल्‍ली, पुणे, हैदराबाद के चेस्‍ट स्‍पेशियलिस्‍ट्स आयेंगे बेस्‍ट ऑफ चेस्‍ट में

लखनऊ। कल रविवार को ‘बेस्ट ऑफ चेस्ट 2018-2019’ के अन्तर्गत एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन, इण्डियन चेस्ट सोसाइटी, यूपी चैपटर के तत्वावधान में यहां होटल ताज महल में किया जायेगा।

इण्डियन चेस्ट सोसाइटी के पूर्व अध्यक्ष तथा वर्तमान में नेशनल कॉलेज ऑफ चेस्ट फिजिशियन (भारत) के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा0 सूर्यकान्त, क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी) पर अपना व्याख्यान देगें। ज्ञात रहें कि देश में लगभग 5 करोड़ लोग सीओपीडी से पीड़ित हैं, यह बीमारी धूम्रपान के अतिरिक्त, लकड़ी के चूल्हे पर खाना बनाने वाली महिलाओं, परोक्ष धूम्रपान, वायु प्रदूषण, वाहन प्रदूषण और औद्योगिक प्रदूषण आदि के कारण होती है।

डा0 सूर्यकान्त ने बताया कि इस कार्यक्रम में देश के अन्य प्रख्यात चिकित्सक-मुम्बई से डा0 अमिता नेने, एम्स न्यू दिल्ली से डा0 करन मदान, पुणे से डा0 नितिन अभयंकर तथा हैदराबाद से डा0 वी नागार्जुन मातरू भी विभिन्न विषयों पर अपना व्याख्यान देगें। इस कार्यशाला में उ0प्र0 के लगभग 200 चिकित्सक प्रतिभाग करेगें, जिसमें इण्डियन चेस्ट सोसाइटी के वर्तमान अध्यक्ष डा0 सुधीर चौधरी एवं राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष डा0 जे0 के0 समारिया भी उपस्थित रहेंगे।