Saturday , May 18 2024

अधोमानक रक्‍त मिलने पर तीन ब्‍लड बैंकों के लाइसेंस निरस्‍त

-जून-‍जुलाई में एसटीएफ एवं औषधि विभाग की टीम ने मारे थे छापे

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। जनपद लखनऊ के तीन ब्‍लड बैंक का लाइसेंस निरस्‍त कर दिया गया है। इन तीनों ब्‍लड बैंक में छापेमारी के दौरान लिये गये रक्‍त के नमूने की रिपोर्ट प्राप्‍त होने के बाद यह कार्यवाही की गयी है। रक्‍त के नमूने की जांच व विश्‍लेषण करने के बाद खून अधोमानक होना पाया गया है। इस सम्‍बन्‍ध में 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी है।

औषधि निरीक्षक से मिली जानकारी के अनुसार ज़िलाधिकारी सूर्य पाल गंगवार के निर्देशन में एसटीएफ एवं औषधि विभाग लखनऊ की संयुक्त टीम ने बीती 29 व 30 जून तथा 2 जुलाई को लखनऊ में संचालित तीन ब्‍लड बैंक 1. मेसर्स मेडलाईफ चैरिटेबल ब्लड बैंक, तहसीनगंज, ठाकुरगंज, लखनऊ, 2. मेसर्स – नारायणी चैरीटेबल ब्लड सेन्टर, एनडी कॉम्पलेक्स, कृष्णा नगर मेट्रो स्टेशन, और 3 . मेसर्स मानव चैरिटेबल ब्लड एण्ड कम्पोनेन्ट सेन्टर, इन्द्रलोक मार्केट, कृष्णानगर में छापेमारी की गयी थी।

बताया गया है कि छापे के दौरान ब्लड बैंकों से ब्लड के नमूनें जांच एवं विश्लेषण के लिए  एकत्र किये गए थे, जो जांच में मानक स्तर नहीं पाये गये छापे के दौरान पायी गयी अनियमितताओं के सम्बन्ध में ब्लड बैंकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। ब्लड बैंकों द्वारा स्पष्टीकरण नहीं दिया गया। छापे के दौरान पायी गई कमियों एवं नमूने की जांच रिपोर्ट के आधार पर तीनो ब्लैड बैंकों का लाइसेंस  निरस्त किया गया है। इसके अतिरिक्‍त इस कार्रवाई में 11 अभियुक्तों के विरुद्ध थाना ठाकुरगंज लखनऊ में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई गई। विवेचना पूर्ण होने के उपरान्त दोषी फर्मों व व्यक्तियों के विरुद्ध सक्षम न्यायालय में परिवाद दाखिल किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.