Friday , August 6 2021

जिन कुष्‍ठ रोगियों को लोग छूना नहीं पसंद करते हैं, उनकी सेवा करते हैं कुष्‍ठ सेवा कर्मी

संयुक्त निदेशक ने कहा, एन एम ए कैडर की समस्याओं का समाधान होगा
अधिवेशन में पहुंचे सिने अभिनेता संदीप यादव, हुआ भव्य स्वागत

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ कुष्ठ कर्मचारी उन मरीजों की खोज, पहचान और सेवा करता है जिन्हें समाज में अछूत समझा जाता है इसलिए कुष्ठ सेवा के कर्मचारी (एन एम ए) इस सेवा और समाज के महत्वपूर्ण अंग हैं। कुष्ठ सेवाओं का सामान्य सेवा में समेकन के बाबजूद एन एम ए संवर्ग मृत कैडर नहीं है, इनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

ये बातें आज राष्ट्रीय नेहरू युवा केन्द्र सभागार में राजकीय कुष्ठ कर्मचारी संघ के द्विवार्षिक अधिवेशन को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय कार्यक्रम के निदेशक डॉ सुंदरियाल ने कही। संयुक्त निदेशक डॉ ए के सिंह ने कहा कि संवर्ग का पुनर्गठन और वेतन विसंगति सहित अनेक मामले शासन को संदर्भित हैं, निदेशालय पूरी तरह कर्मचारियों के साथ है। कुष्ठ कर्मचारियों ने देश और प्रदेश से कुष्ठ को मिटाने के संकल्प को पूरा करने के प्रयास में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अधिवेशन की अध्यक्षता संघ के प्रांतीय अध्यक्ष सतीश यादव ने की।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि आज राजकीय कुष्ठ कर्मचारी संघ के द्विवार्षिक अधिवेशन का उद्घाटन मुख्य अतिथि इप्सेफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष वी पी मिश्र, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष सुरेश रावत, महामंत्री अतुल मिश्र, संगठन प्रमुख के के सचान, फ़िल्म अभिनेता संदीप यादव, पूर्व अध्यक्ष विनय सिंह, ब्रह्मचारी राय द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

अधिवेशन की शोभा बढ़ाने बाटला हाउस जैसी अनेक प्रसिद्ध फ़िल्मों और और भाभी जी घर पर हैं, सी आई डी, सावधान इंडिया जैसी अनेक धारावाहिको के प्रसिद्ध अभिनेता संदीप यादव आज यहां पहुंचकर समाज के बदलते स्वरूप पर गंभीर व्याख्यान दिया। अधिवेशन में संघ द्वारा संदीप यादव का जोरदार स्‍वागत और सम्मान किया गया।

12 दिसम्‍बर को होगा हर जिले में प्रदर्शन : वीपी मिश्र

मुख्य अतिथि वी पी मिश्र ने कहा कि कर्मचारी देश स्तर पर आंदोलन को तैयार हैं , सरकार के कर्मचारी विरोधी रवैये के खिलाफ 12 दिसम्बर को देश के हर जनपदों में प्रदर्शन होगा। अतुल मिश्र और सुरेश रावत ने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारी हितों के मुद्दों पर चुप है लेकिन कर्मचारी विरोधी कदम तुरंत उठा रही है, इसलिए 21 नवम्बर 2019 और 21 जनवरी 2020 को क्रमशः मशाल जुलूस और विशाल मंडलीय प्रदर्शन होंगे।

निजीकरण और ठेकेदारी प्रथा युवाओं के भविष्‍य की हत्‍या : सुनील यादव

परिषद के प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव ने कहा कि निजीकरण और ठेकेदारी प्रथा युवाओं के भविष्य की हत्या है। अनिश्चित भविष्य के प्रति आशंकित युवा कर्मचारी नहीं, बंधुआ मजदूर की तरह कार्य कर रहा है  जो देशहित में नही है। के के सचान और डॉ पी के सिंह ने कहा कि परिषद सदैव कुष्ठ कर्मचारियों के साथ खड़ी है।

वेतन विसंगति 2006 से दूर करने की मांग

संचालन करते हुए महामंत्री रमेश उपाध्याय ने वेतन विसंगति को 2006 से दूर किये जाने की पुरजोर मांग रखी। अध्यक्ष सतीश यादव ने कहा कि उच्च पदों का सृजन कर वेतन उच्चीकृत किया जाना चाहिए, हेल्थ एजुकेटर के अधिकांश पद खाली हैं, फीजियोथैरेपिस्‍ट के पदों पर भी एन एम ए की पदोन्नति होनी चाहिए। कुष्ठ भत्ता और वाहन भत्ता की मांग वेतन समिति के समक्ष रखी गयी थी जिसकी रिपोर्ट शासन को संदर्भित है परंतु उसे लागू नहीं किया जा रहा जिससे कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। कल संघ का निर्वाचन भी सम्पन्न होगा ।

अधिवेशन को विनय सिंह, ब्रह्मचारी राय, के के मिश्र, बी एन पांडेय, सुभाष श्रीवास्तव, सर्वेश पाटिल, दिनेश कुमार, आलम, दिनेश सेठ, सुरेश यादव आदि ने भी संबोधित किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com