Sunday , August 1 2021

जरूरतमंद बुजुर्गों को दांतों का उपचार घर पर ही देगा केजीएमयू

-स्‍वयंसेवी संस्‍था की मदद से इलाज के प्रस्‍ताव पर कुलपति ने दी सहमति
-अन्तर्राष्ट्रीय वृद्ध जन दिवस पर केजीएमयू में विचार गोष्‍ठी व परिचर्चा आयोजित

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय जल्‍दी ही असहाय, विकलांग एवं शारीरिक रूप से अक्षम दंत रोग से पीड़ित ऐसे मरीजों को जो अस्पताल पहुंचने में असमर्थ हैं, को स्‍वयंसेवी संस्‍था की मदद से घर पर ही इलाज देने की व्‍यवस्‍था करेगा।

इस प्रस्‍ताव पर कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने आज दी। मौका था अन्तर्राष्ट्रीय वृद्ध जन दिवस के अवसर पर किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के दंत संकाय के सी0पी0 गोविला सभागार में आयोजित ’’वृद्धों के स्वास्थ्य जागरूकता एवं मुख स्वास्थ्य विषयक विचार गोष्ठी एवं परिचर्चा का। कार्यक्रम का आयोजन ‘‘डिपार्टमेंट ऑफ प्रॉस्थोडान्टिक्स के0जी0एम0यू0’’, ‘‘क्लिनिकल सोसायटी ऑफ प्रॉस्थोडॉन्टिक्स एण्ड डेंटल इम्पालण्टोलॉजी’’ एवं सर्वजन विकास समिति द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया।

कार्यक्रम के आयोजक डॉ जितेन्द्र राव द्वारा असहाय, विकलांग एवं शारीरिक रूप से अक्षम दंत रोग से पीड़ित ऐसे मरीजों को जो अस्पताल पहुंचने में असमर्थ हैं उनके लिए केजीएमयू द्वारा स्वयं सेवी संस्थाओं के सहयोग से घर पर इलाज की विशेष सुविधा दिये जाने का प्रस्ताव किया। जिस पर कुलपति द्वारा मौखिक स्वीकृति प्रदान करते हुए विभाग के ‘‘वांलिटियर्स’’ चिकित्सकों की एक टीम जल्द ही गठित किये जाने की बात कही।

डॉ राव द्वारा कहा गया कि आज हम देश में वृक्ष बचाओ अभियान के साथ-साथ क्यों न वृद्ध बचाओ का भी अभियान चलायें। स्वास्थ्य एवं विभिन्न समस्याओं के तहत जो मुरझा गये हैं क्यों न हम उन्हे पुनः पल्लवित करने का कार्य करें जिसे हमारा समाज स्वस्थ और समृद्ध दिशा की ओर बढ़ सकें।

सिंगल विंडो प्रणाली से मिले वृद्धों को इलाज की सुविधा

सर्वजन विकास समिति की चेयरपर्सन डॉ रश्मि सिंह द्वारा अस्पतालों में वरिष्ठ जनों को विशेष सुविधा प्रदान किये जाने की मांग करते हुए एक अभियान चलाकर सरकार का ध्यान इस ओर आकृष्ट करने का आह्वान किया गया तथा ‘‘सिंगल विंडो’’ प्रणाली के तहत एक जगह पर उन्हें इलाज से संबंधित सारी सुविधाएं प्रदान किये जाने की मांग की। अपने विचार व्यक्त करते हुए डा0 रश्मि सिंह ने कहा कि हम वर्ष में एक ही बार वृद्ध दिवस क्यों मनायें? क्यों न हम उसे हर सप्ताह मनायें तथा उन्हें इलाज से संबंधित हर सुविधाएं उनके ही स्थान पर स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा प्रदान करायें।

बुजुर्गों की सलाह एवं मशविरे की सतत जरूरत

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि एवं महापौर लखनऊ संयुक्ता भाटिया ने कहा कि अपने समाज में हम बुजुर्गों को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं उनके सलाह एवं मशविरे की हमें सतत जरूरत पड़ेगी तथा बगैर वरिष्ठजनों को साथ लिये कोई भी समाज आगे नहीं बढ़ सकता इसके लिए जरूरी है कि हम उनकी सेहत का बराबर खयाल रखें जिसमें मुख स्वास्थ्य प्रमुख है जो विभिन्न रोगों का प्रवेश द्वार है।

विशिष्ट अतिथि महंत देव्यागिरी ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि दंत संकाय बुजुर्गों एवं गरीबों के स्वास्थ्य के दृष्टिगत जो कदम उठा रहा है वह प्रशंसनीय है तथा उसे निरंतर आगे बढ़ाने का आहवान किया।

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 एमएलबी भट्ट ने वरिष्ठ जनों के स्वास्थ्य के प्रति प्रॉस्थोडॉन्टिक्स विभाग द्वारा वर्ष 2013 से किये जा रहे विशेष जनजागरूकता कार्यक्रम एवं उनके प्रयास की सराहना की तथा उसे और आगे बढ़ाने में मदद का पूरा आश्वासन दिया। प्रोफेसर शादाब मोहम्मद डीन दंत संकाय ने कहा कि प्रॉस्थोडॉन्टिक्स विभाग इस कार्यक्रम को कई सालों से कराने में अग्रिम भूमिका निभा रहा है।

इस अवसर पर दंत संकाय के शिक्षकों एवं छात्रों एवं मरीजों द्वारा वाद-विवाद प्रतियोगिता एवं पोस्टर प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि को स्मृति चिन्ह के रूप में गुलाब एवं पौधे देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में आये हुए वरिष्ठ जनों और मरीजों को सर्वजन विकास समिति की चेयरपर्सन डॉ रश्मि सिंह द्वारा शॉल तथा वृक्ष लगाओ अभियान के अंतर्गत उन्हें प्रतीक रूप में तुलसी का पौधा देकर सम्मानित किया गया।

बत्‍तीसी के लिए दिये गये कूपन

कार्यक्रम में आये मरीजों को निःशुल्क बत्तीसी हेतु विशेष सुविधा प्रदान करते हुए भविष्य हेतु उन्हें कूपन वितरित किया गया जिससे वह कभी भी आकर प्राथमिकता के आधार अपना इलाज करा सकें। कार्यक्रम में उपस्थित तकरीबन 75 से भी अधिक मरीज उपस्थित हुए जिन्होंने कार्यक्रम में अपने लिए विशेष सुविधा की मांग का समर्थन करते हुए कार्यक्रम के आयोजकों को इसके लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

सबसे बुजुर्ग 91 वर्षीय पूर्व आईएएस गजराज सिंह का सम्‍मान

कार्यक्रम के आकर्षण दंत संकाय विभाग के सबसे वरिष्ठ 91 वर्षीय मरीज पूर्व आईएएस गजराज सिंह को विशेष रूप से सम्मानित किया गया तथा उनके द्वारा अपने विचारों एवं अनुभवों को साझा किया। अंत में दंत संकाय के डॉ कमलेश्वर सिंह ने सभी आये हुए अतिथियों एवं वृद्ध जनों का कार्यक्रम में आने एवं उसे सफल बनाने के लिए धन्यवाद प्रकट करते हुए वृद्ध जन के आहार में विभिन्न प्रकार के फल सब्जियां एवं पेय पदार्थ जिसमें उचित मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स, कार्बोहाइट्रेट उचित मात्रा में हो, के सेवन किये जाने हेतु लोगों को प्रेरित किया, जिससे उनका स्वास्थ्य एवं प्रतिरोधी क्षमता बेहतर बने। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रोफेसर नीरज मिश्रा- डेन्टल सुपरिटेन्डेंट, प्रोफेसर आर0डी0 सिंह, डा0 सुनीत जुरेल एवं शिक्षक और छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com