Monday , June 27 2022

चिकित्सा क्षेत्र की सबसे ज्यादा पुस्तकें लिखने का रिकॉर्ड

कुल 14 पुस्‍तकों में सात हिन्‍दी और सात अंग्रेजी भाषा में

डॉ सूर्यकांत की पुस्‍तक ‘A Practical Textbook on Respiratory Medicine’  का विमोचन करते गृहमंत्री राजनाथ सिंह

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍व विद्यालय के पल्‍मोनरी विभाग के हेड प्रो सूर्यकांत चिकित्‍सीय क्षेत्र में रोग के उपचार के साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य और चिकित्‍सा क्षेत्र में विभिन्‍न कार्यक्रमों तथा पुस्‍तकों के जरिये जागरूकता फैलाने के कार्य में लगे हुए हैं। चिकित्‍सा का पेशा अपनाते हुए लेखन में रुचि रखने वाले डॉ सूर्यकांत ने पुस्‍तकों के लेखन में सबसे ज्‍यादा चिकित्‍सीय पुस्‍तक लिखने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

इस विषय में ‘सेहत टाइम्‍स’ से विशेष वार्ता में डॉ सूर्यकांत ने बताया कि उनकी अब तक 14 पुस्‍तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। इनमें 7 पुस्‍तकें हिन्‍दी में तथा 7 पुस्‍तकें अंग्रेजी भाषा में लिखी गयी हैं। बीती 24 दिसम्‍बर को साइंटिफि‍क कन्‍वेंशन सेंटर में आयोजित केजीएमयू के स्‍थापना दिवस के अवसर पर उनकी 14वीं पुस्‍तक ‘A Practical  Textbook  on Respiratory Medicine’ का लोकार्पण गृहमंत्री तथा लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने किया।

डॉ सूर्यकांत की पुस्‍तक पर अपनी टिप्‍पणी लिखते गृहमंत्री राजनाथ सिंह

उनकी लिखी किताबों के बारे में पूछने पर डॉ सूर्यकांत ने बताया कि पुस्‍तक लेखन का सफर करीब 9 साल पूर्व ‘जानिये स्‍वाइन फ्लू को’ प्रथम भाग से शुरू हुआ था। उसके बाद हिन्‍दी भाषा में लिखी पुस्‍तकों में ‘जानिये स्‍वाइन फ्लू को’ द्वितीय भाग, ‘फ्लू एक सम्‍पूर्ण जानकारी’, ‘टीबी एक सम्‍पूर्ण जानकारी’, ‘एलर्जी एक सम्‍पूर्ण जानकारी’ व ‘खर्राटे हैं खतरनाक’ शामिल हैं, जबकि अंग्रेजी में लिखी पुस्‍तकों में ‘bronchial asthma’, ‘A Handbook on COPD’, ‘A Handbook on Interstitial Lung Diseases’, ‘Lung Cancer’, ‘Pulmonary Update’, ‘Basics of Tuberculosis’ व  ‘A Practical Textbook on Respiratory Medicine’ शामिल हैं।