Wednesday , October 5 2022

सावधान! कोरोना संक्रमित व्‍यक्ति के धूम्रपान का धुआं भी कर सकता है दूसरों को संक्रमित

-सार्वजनिक स्‍थानों पर व्‍यक्ति के आसपास मौजूद लोगों को है सर्वाधिक खतरा

‘सेहत टाइम्‍स’ की उत्‍सुकता पर डॉ सूर्य कान्‍त ने लगायी मुहर

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। आमतौर पर जैसा कि हम सभी जानते हैं कि खांसने-छींकने, थूकने में अगर लापरवाही की जाये तो कोरोना संक्रमण फैल सकता है, लेकिन अगर कोरोना संक्रमित व्‍यक्ति धूम्रपान करता है तो उसके मुंह-नाक से निकने धुएं से भी संक्रमण हो सकता है।

डॉ सूर्यकांत

केजीएमयू के रेस्‍परेटरी विभाग के अध्‍यक्ष व इंडियन सोसाइटी अगेन्‍स्‍ट स्‍मोकिंग के पूर्व महासचिव डॉ सूर्यकांत ने यह बात विश्‍व तम्‍बाकू निषेध दिवस के मौके पर ‘सेहत टाइम्‍स’ द्वारा पूछे गये प्रश्‍न के उत्‍तर में कही। उन्‍होंने कहा कि जैसा कि देखा गया है कि खांसने-छींकने से निकलने वाली ड्रॉप लेट्स से कोरोना संक्रमण फैलता है, तो ऐसे में कोरोना संक्रमित व्‍यक्ति जब सिगरेट-बीड़ी का सेवन कर मुंह से धुआं निकालेगा तो फूंके हुए धुएं के साथ हजारों की संख्‍या में वायरस भी निकलेंगे जो कि खांसने-छींकने में लाखों की संख्‍या में निकलते हैं।

ऐसी स्थिति में सार्वजनिक स्‍थानों पर धूम्रपान करने पर रोक है तो इस नियम का कड़ाई से पालन होना चाहिये, और अगर कोई ऐसा करता पाया जाये तो उस पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिये, इससे बचने की हर उस व्‍यक्ति को आवश्‍यकता है जो धूम्रपान करने वाले व्‍यक्ति के आसपान होता है। हालांकि सबसे बड़ी आवश्‍यकता है कि धूम्रपान करने वाले व्‍यक्तियों को स्‍वयं ही यह समझना होगा कि धूम्रपान न करना उनके लिए ही लाभकारी है, वे स्‍वयं ही इसका ध्‍यान रखें।