Thursday , September 29 2022

32 वर्षों से नहीं हुआ है स्‍वास्‍थ्‍य विभाग में मल्‍टीपरपज वर्कर्स का प्रशिक्षण

-संक्रामक सहित अन्‍य रोगों से लड़ने में अत्‍यन्‍त महत्‍वपूर्ण भूमिका है एमपीडब्‍ल्‍यू की

-एमपीडब्‍ल्‍यू के सत्‍याग्रह का 20वें दिन में प्रवेश, सीएम तक बात पहुंचाने के प्रयास जारी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। महानिदेशालय परिवार कल्याण परिसर के अंदर संविदा एम.पी.डब्ल्यू. एसोसिएशन ने अपने प्रशिक्षण की मांग को लेकर 20वें दिन भी धरना जारी रखा। एसोसिएशन के संरक्षक विनीत तिवारी ने बताया कि इस मसले पर मुख्‍यमंत्री तक बात पहुंचाने के प्रयास जारी हैं, उम्‍मीद है कि जल्‍दी ही इसमें सफलता हासिल होगी। इसके साथ ही अन्‍य आंदोलनकारी भी अपने-अपने स्‍तर से बात को उचित व्‍यक्तियों तक पहुंचाने में लगे हुए हैं।

यह जानकारी देते हुए एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी सैयद मुर्तजा ने बताया कि निजी क्षेत्रों में प्रशिक्षण व्यवस्था उपलब्ध न होने के कारण विभागीय प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए संविदा एम.पी.डब्ल्यू. कर्मचारियों द्वारा 20 दिन से महानिदेशालय परिवार कल्याण परिसर में अनिश्चितकालीन सत्याग्रह आंदोलन किया जा रहा है। संविदा कर्मचारियों का कहना है कि उनको प्रशिक्षण दिलाए जाने संबंधी पत्रावली पूर्ण है और अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के कार्यालय में निर्णय के लिए पड़ी है जबकि संक्रामक रोगों की विभीषिका चरम पर है इसके बावजूद इस महत्वपूर्ण विषय पर अपर मुख्य सचिव महोदय कोई निर्णय नहीं ले रहे।

संपूर्ण उत्तर प्रदेश में 45000 कर्मचारियों की जगह मात्र 2000 से भी कम कर्मचारी कार्य कर रहे हैं विभाग में पिछले 32 वर्षों से प्रशिक्षण का कार्य ठप पड़ा है वर्ष 1989 में अंतिम बैच को प्रशिक्षण दिया गया था प्रशिक्षित पुरुष कर्मचारियों के अभाव में पुरुषों के पदों पर महिलाओं को रखने का प्रयास किया जा रहा है जो नियमावली में निर्दिष्ट कार्य एवं दायित्व का घोर उल्लंघन है। आज के आंदोलन की अध्यक्षता कर रहे जनपद औरैया के जिला अध्यक्ष सचिन गुप्ता के द्वारा इस प्रकरण पर अभिलंब निर्णय लिए जाने संविदा कार्मिकों को प्रशिक्षण दिलाये जाने की अपर मुख्य सचिव से अपील की गई प्रदेश अध्यक्ष मयंक तिवारी द्वारा बताया गया कि प्रशिक्षण के प्रकरण पर जल्द ही जय प्रताप सिंह मंत्री चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण से पुनः भेंट की जाएगी।

जनपद सीतापुर के आंदोलनकारियों के द्वारा भी आज प्रदेश के मुख्य सचिव तक अपनी बात पहुंचाने का पुरजोर प्रयास किया गया काफी हद तक वह इस मसले पर सफल भी रहे जल्द ही मुख्य सचिव कार्यालय से संविदा कार्मिकों के प्रशिक्षण पर निर्देश मिलने की संभावना है। संगठन संरक्षक विनीत मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री तक अपनी बात पहुंचाने के लिए कई विधायकगणों से वार्ता जारी है आशा है जल्द ही यह प्रकरण मुख्यमंत्री के संज्ञान में पहुंच सकेगा। जनपद फतेहपुर, मुजफ्फरनगर, औरैया, महोबा, सीतापुर और लखनऊ जनपद के आंदोलनकारी धरना स्थल पर पूरे जोश-खरोश के साथ मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − 15 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.