Monday , October 25 2021

लोहिया संस्‍थान का निदेशक पद एक बार फि‍र डॉ एके सिंह के हवाले

-डॉ एके त्रिपाठी के इस्‍तीफे के बाद संस्‍थान को फि‍र कार्यवाहक निदेशक  

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थि‍त डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक पद से डॉक्टर ए के त्रिपाठी के त्यागपत्र देने के बाद संस्थान के कार्यवाहक निदेशक के रूप में एक बार पुनः अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ ए के सिंह को नियुक्त किया गया है। डॉ ए के सिंह के कल 24 नवंबर को कार्यभार संभालने की संभावना है।

इस संबंध में कुलाध्‍यक्ष आनंदीबेन पटेल की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि चूंकि डॉ ए के त्रिपाठी के त्यागपत्र से रिक्त हुए निदेशक पद पर वर्तमान में नियमित निदेशक की नियुक्ति किया जाना संभव नहीं है, ऐसी स्थितियों में डॉ ए के सिंह को छह माह अथवा नियमित नियुक्ति होने या अग्रिम आदेशों तक कार्यवाहक निदेशक के रूप में नियुक्त किया जा रहा है।

ज्ञात हो डॉ एके त्रिपाठी ने 21 नवम्‍बर की शाम को निदेशक पद से अपना इस्‍तीफा दे दिया था। इससे एक सप्‍ताह पूर्व 14 नवम्‍बर को ही उनको क्‍लीनचिट देते हुए निदेशक पद पर पुन: स्‍थापित किया गया था। उन्‍हें चार्ज भी कार्यवाहक निदेशक डॉ एके सिंह ने ही दिया था। इससे पूर्व जून माह में डॉ त्रिपाठी को संस्‍थान में आने वाले कोविड और नॉन कोविड मरीजों को सुविधाएं न मिल पाने के कारण पद से हटाकर जांच के आदेश दिये गये थे।

फि‍लहाल निदेशक पद एक बार फि‍र कार्यवाहक निदेशक के हवाले है, चर्चा है कि संस्‍थान में चल रही कार्यवाहक निदेशक की नियुक्ति के दौर और ऊपर से गुटबाजी के चलते मरीजों के भले के कितने कार्य हो पाते हैं, इस पर एक बड़ा प्रश्‍न चिन्‍ह है, क्‍योंकि व्‍यवस्‍थाओं को सुधारने के लिए टीम वर्क बहुत महत्‍वपूर्ण है, और टीम वर्क तभी आता है जब‍ सभी एकस्‍वर में बोलें, ऐसे में अगर गुटबाजी है ये उठापटक चलती ही रहेगी, मरीजों की दिक्‍कतें कम हो पायेंगी, यह कहना मुश्किल है।