Friday , October 7 2022

सर, आप वह सूरज हैं जिससे हम सब स्‍टूडेंट्स को रौशनी मिलती है…

-पैरामेडिकल के डीन पद का कार्यकाल समाप्‍त होने के बाद पद छोड़ने वाले डॉ विनोद जैन को मिले भावपूर्ण मैसेज


सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। कुछ लोग अपने कार्य से लोगों के दिलों में ऐसी जगह बनाते हैं जो पैसे से अर्जित नहीं की जा सकती है। जिस प्रकार शिल्पकार एक सुंदर मूर्ति गढ़ता है,‌ उसी प्रकार एक टीचर अपने स्टूडेंट्स के भविष्य को संवारने का कार्य करता है। खासतौर से किसी व्रयावसायिक शिक्षा को प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के लिए टीचर्स के सहयोग की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाती है।

कुछ ऐसी ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा कर किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के पैरामेडिकल संकाय के डीन पद को बीती 31 मार्च को छोड़ने वाले डॉ विनोद जैन के पास पैरामेडिकल के विद्यार्थियों के भावपूर्ण मैसेज आ रहे हैं। विद्यार्थियों ने डॉ जैन को पैरामेडिकल का सूरज पैरामेडिकल की बैकबोन जैसी संज्ञाओं से नवाज कर अपनी रिस्पेक्ट पे की है।

ज्ञात हो केजीएमयू में पैरामेडिकल साइंस संकाय की स्थापना के समय से विभाग को निरंतर प्रगति के रास्ते पर ले जाने में डॉ विनोद जैन का महत्वपूर्ण योगदान है लेकिन जिस प्रकार हर पद के लिए कार्यकाल होता है उसी प्रकार डॉ विनोद जैन का भी डीन पद पर कार्य काल समाप्त हो जाने के उपरांत नए डीन के रूप में डॉ अनिल निश्चल को यह दायित्व सौंपा गया है डॉ विनोद जैन ने 31 मार्च को अपना कार्यभार डॉ निश्चल को सौंप दिया है।

डॉ विनोद जैन द्वारा डीन पद का कार्यभार सौंपे जाने की खबर जैसे ही पैरामेडिकल छात्रों को पता चली उसके बाद से उनके इमोशंस बाहर आने शुरू हो गये थे।

एक स्टूडेंट ने लिखा है कि हम पूरे पैरामेडिकल के बच्चों की तरफ से आपसे अपनी बात कहना चाहते हैं यह हमारी ही नहीं पूरे पैरामेडिकल के जितने भी स्टूडेंट हैं, हम सभी के दिल की आवाज है सर यह बात हम आज ही आपसे कहना चाहते थे लेकिन कह नहीं पाए हमें जिंदगी भर इस बात का अफसोस रहेगा
आप प्लीज मत जाइए सर
सर आप हमारे पैरामेडिकल का वह सूरज हैं जिससे हम सभी को रोशनी मिलती है और आज जब आप जा रहे हैं तो हमें ऐसा लग रहा है कि हमारी रोशनी का स्रोत खत्म हो रहा है, सर आपके जाने से हमारे केजीएमयू आईपीएमएस में अंधेरा छा रहा है सर हमारे सर आप हमारे पैरामेडिकल की बैकबोन हैं आपके मोटिवेशन और गाइडेंस के बिना हम लोग कुछ कर ही नहीं सकते

we always admire you sir
We respect you a lot Sir you are our strength you are our role model sar you always feel like our father
हमने हमेशा आप में अपने पिता देखे हैं

we have always got very featherly feeling from your side we need you sir we miss you a lot Sir aapke Bina kgmu ipms incomplete hai please aap mat jaaiye sir

2017 बैच के एक छात्र ने लिखा है कि
It was very great experience to learn many things with you sir. It is very emotional day for all of us. We all are going to miss you badly

एक अन्य छात्र ने लिखा है कि
I want say something sir
Thank you for showing me how to stand my ground and have the kind of career that I can be proud of I count myself lucky for having had your mentorship thank you sir

एक मैसेज में लिखा है कि सर आपने पैरामेडिकल फैकेल्टी के लिए जो भी किया हम सदैव उसके आभारी रहेंगे पैरामेडिकल फैकेल्टी को शून्य से शिखर तक लाने में आपके योगदान के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद हमें विश्वास है कि आगे भी आपका मार्गदर्शन और सहयोग प्राप्त होगा।
इस तरह के अनेक मैसेज प्रप्‍त हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty + one =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.