Wednesday , January 26 2022

दुर्घटना से एक व्‍यक्ति को बचाने का अर्थ है परिवार को ‘बचाना’

-हेल्‍थ सिटी और आर्थराइटिस फाउंडेशन ऑफ लखनऊ आयोजित कर रहा ‘रोड सेफ्टी फर्स्‍ट प्रायोरिटी’

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। हाई वे पर हाई स्‍पीड हो किसी भी सड़क पर बढ़ते ट्रैफि‍क के बीच चलने वाले वाहनों विशेषकर टू व्‍हीलर्स चलाने वाले लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षित व जागरूक करने के लिए हेल्‍थसिटी हॉस्पिटल और आर्थराइटिस फाउंडेशन ऑफ लखनऊ के संयुक्‍त तत्‍वावधान में शनिवार 14 मार्च को ‘रोड सेफ्टी फर्स्‍ट प्रायोरिटी’ कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, इसके तहत विजय खण्‍ड गोमती नगर स्थित हेल्थ सिटी हॉस्पिटल से 1090 चौराहे तक साइकिल और मोटर साइकिल रैली निकाली जायेगी।

यह जानकारी आज यहां हेल्‍थ सिटी हॉस्पिटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में देते हुए डॉ संदीप कपूर और डॉ संदीप गर्ग ने बताया कि आयो‍जन का मुख्‍य उद्देश्‍य लोगों में सड़क सुरक्षा की भावना जागृत करना है जिसके माध्‍यम से जीवन की रक्षा की जा सकती है। उन्‍होंने कहा कि विचार करके देखिये एक परिवार चलाने वाला व्‍यक्ति अगर दुर्घटनाग्रस्‍त होता है तो दुर्घटना में जान गंवाने वाला भले ही वह एक व्‍यक्ति होता है लेकिन प्रभावित उसका पूरा परिवार होता है, जो कि उससे जुड़ा होता है।  डॉ कपूर ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव राजेश कुमार सिंह तथा विशिष्‍ट अतिथियों के रूप में परिवहन आयुक्‍त धीरज साहू तथा परिवहन के एमडी राजशेखर होंगे। उन्‍होंने बताया कि रैली को सुबह साढ़े आठ बजे हॉस्पिटल से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया जायेगा तथा 1090 चौराहे पर पहुंचेगी। वहां पर एक प्रश्‍नोत्‍तरी का कार्यक्रम भी रखा गया है। इसके साथ ही वहां पर टू व्‍हीलर चालकों को हेलमेट का वितरण भी किया जायेगा।

देखिये वीडियो- क्‍या कहा डॉ संदीप कपूर और डॉ संदीप गर्ग ने

डॉ गर्ग ने बताया कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के साथ ही यह भी लोगों को जानना जरूरी है कि यदि दुर्घटना हो जाती है तो घायलों की जान बचाने के लिए कोई भी व्‍यक्ति किस प्रकार के उपाय करते हुए घायल को अस्‍पताल पहुंचाये, इसके लिए बेसिक लाइफ सपोर्ट (बीएलएस) की ट्रेनिंग का बहुत महत्‍व है, दुर्घटना स्‍थल से घायल को कैसे उठाया जाये, कैसे गाड़ी में लिटाया जाये जैसी महत्‍वपूर्ण जानकारियां व्‍यक्ति की जान बचाने में सहायक सिद्ध होती हैं। पुतलों पर बचाव का प्रदर्शन करते हुए ये जानकारियां भी इस मौके पर दी जायेंगी। डॉ कपूर ने बताया कि इस मौके पर 1090 चौराहे पर कोरोना वायरस को लेकर एक जागरूकता संबंधी जानकारी भी लोगों को दी जायेगी।

 

इस मौके पर सर्जन डॉ केबी जैन ने बताया कि भारत ही नहीं विदेशों में भी आज भी मौतों का सबसे बड़ा कारण दुर्घटनायें ही हैं, ऐसे में एक सामान्‍य नागरिक को भी प्राथमिक उपचार संबंधी जानकारियां होनी चाहिये, जिससे कि अस्‍पताल तक लाते-लाते मरीज की हालत को बिगड़ने से बचाया जा सके। पत्रकार वार्ता में अस्‍पताल के अधीक्षक डॉ केके सिंह भी उपस्थित थे।