Monday , October 25 2021

संजय गांधी पीजीआई की नर्सों ने काला फीता बांधकर शुरू किया आंदोलन

-कैडर पुनर्संरचना की मांग को लेकर किया जा रहा है विरोध

-आंदोलन के अंतिम चरण में संपूर्ण कार्य बहिष्‍कार 17 अगस्‍त से

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई में नर्सिंग स्टाफ एसोसिएशन ने नर्सिंग संवर्ग के पुनर्संरचना की मांग को लेकर आज 1 अगस्त से आंदोलन शुरू कर दिया है। इसके तहत सभी नर्सिंग कर्मियों में काला फीता बांधकर अपनी ड्यूटी की। काली पट्टी से विरोध प्रदर्शन 3 अगस्‍त तक जारी रहेगा।

एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा शुक्ला व महामंत्री सुजान सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लम्‍बे समय से लंबित चली आ रही कैडर रिव्‍यू कराने की मांग को लेकर आंदोलन शुरू किया गया है। इस विषय में की जाने वाली कार्यवाही की जानकारी से भी हम लोगों को संतुष्‍ट नहीं कराया जा रहा है। कोरोना काल में अपने और परिवार के स्‍वास्‍थ्‍य  को जोखिम में डालकर पूरे मनोयोग से अपनी ड्यूटी किये जाने के बावजूद संस्‍थान प्रशासन द्वारा हमारी वर्षों पुरानी उचित मांग न पूरी की गयी और न ही इस विषय को लेकर हमें कोई भरोसेमंद जानकारी दी जा रही है।

सीमा शुक्‍ला ने बताया कि आंदोलन की शुरुआत आज काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन के साथ शुरू की गयी है। काली पट्टी के जरिये विरोध प्रदर्शन का कार्यक्रम 3 अगस्त को प्रातः 10:00 बजे तक चलेगा, इसके बाद 4 अगस्त को सुबह 10:00 बजे निदेशक का घेराव किया जाएगा। उन्‍होंने बताया कि इसके पश्चात 7 अगस्त को प्रातः 11:30 बजे महात्मा गांधी प्रतिमा हजरतगंज से मानव श्रृंखला बनाकर राज्यपाल/कुलाध्‍यक्ष एसजीपीजीआई आनंदी बेन पटेल से वार्ता कर उन्हें ज्ञापन सौंपा जाएगा।

इसके पश्चात 9 अगस्त दोपहर 1:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक संस्थान में धरना प्रदर्शन तथा 10 अगस्त व 11 अगस्त को प्रातः 10:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक कार्य बहिष्कार किया जाएगा। पदाधिकारियों के अनुसार इस कार्य बहिष्कार से इमरजेंसी सेवाओं को मुक्त रखा जाएगा। सीमा शुक्ला ने बताया कि इसके बाद भी अगर कोई हल नहीं निकला तो 17 अगस्त को प्रातः 10 बजे से अनिश्चितकालीन संपूर्ण कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + 10 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.