Wednesday , October 5 2022

वार्षिक समागम से पूर्व गुरुद्वारों में धार्मिक परीक्षा आयोजित

-1 और 2 अक्‍टूबर को नाका गुरुद्वारा में मनाया जायेगा सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी का समागम

गुरुद्वारा मानसरोवर एलडीए

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी अपने 51वें वार्षिक समागम के पूर्व नगर के विभिन्न गुरुद्वारों से आए विद्यार्थियों की धार्मिक परीक्षा लेकर उन्हें सम्मानित करती आई है। इसी क्रम में आज मंगलवार को यहां गुरुद्वारा मानसरोवर एलडीए में तथा कल सोमवार को श्री गुरू सिंह सभा  गुरुद्वारा नाका हिंडोला में परीक्षा आयोजित की गयी। परीक्षा में श्री सुखमनी साहिब की वाणी के साथ-साथ इसके रचयिता गुरू अर्जुन देव के जीवन पर प्रश्न पूछे गये जिसका इसी प्रश्न पत्र पर उत्तर देना था।

चेयरमैन कृपाल सिंह ऐबट ने यह जानकारी देते हुए बताया कि श्री सुखमणि साहिब सेवा सोसायटी का वार्षिक समागम आगामी 1 और 2 अक्टूबर को श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा नाका हिंडोला में बड़ी श्रद्धा एवं सत्कार के साथ मनाया जाएगा। आज गुरुद्वारा मानसरोवर एलडीए में आयोजित परीक्षा में 25 वर्ष से 70 वर्ष तक की आयु के 50 प्रतिभागियों ने हिस्‍सा लिया। सफल प्रतिभागियों को 2100 रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया तथा उन्हें 2 अक्टूबर के मुख्य समारोह में सम्मानित करने का निर्णय लिया गया है मुख्य समारोह में दरबार साहिब अमृतसर के हजूरी रागी भाई दविंदर सिंह तथा अलवर के प्रसिद्ध विद्वान डॉ हरिवंश आ रहे हैं।

आज के कार्यक्रम में सोसाइटी के मुख्य सेवादार हरमिंदर सिंह हिंदी के नेतृत्व में साहित्यकार नरेंद्र सिंह मोंगा, दविंदर सिंह बग्गा, अजीत सिंह के साथ सुरिंदर कौर डेजी के साथ मानसरोवर गुरुद्वारे के प्रमुख सेवादार यशपाल सिंह ऐबर तथा सोसाइटी के जतिंदर पाल सिंह मंगा एवं गुरमीत सिंह सचदेवा उपस्थित थे।

 गुरुद्वारा नाका हिंडोला

श्री ऐबट ने बताया कि कल श्री गुरू सिंह सभा गुरुद्वारा नाका हिंडोला में आयोजित परीक्षा में 110 बच्चों ने भाग लिया। उन्‍होंने बताया कि सभी को सांत्वना पुरस्कार के साथ प्रथम, द्वितीय और तृतीय आए परीक्षार्थियों को 2100/-, 1500/- और  1100/- के नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन सोसाइटी के प्रमुख सेवादार सरदार हरमिन्दर सिंह मिंदी, जत्थेदारनी बेला भाटिया, रोज़ी आनन्द, रोजी वाधवा, जतिंदर पाल सिंह मंगा, गुरप्रीत कौर बजाज और सुरिंदर कौर डेजी ने मिलजुल कर किया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

6 − five =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.