Saturday , November 27 2021

मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान ने अब तक का रिकॉर्ड तोड़ा

सीएमओ ने रिकॉर्ड पर खुशी जतायी व लापरवाही करने वालों पर की काररवाई

 

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आजकल चल रहे मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान ने रिकॉर्ड तोड़ टीकाकरण किया है। 26 नवम्‍बर, 2018 से शुरू हुए इस अभियान में अब तक 13,33,962 बच्चों के एम आर का टीका लगाया जा चुका है, जो कि एक रिकॉर्ड है। इस सफलता के पीछे कहीं न कही मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी की अभियान में लापरवाही बरतने वाले कर्मियों के खिलाफ कड़ाई भी एक कारण माना जा रहा है। कल एक एएनएम का स्‍थानांतरण किया गया था जबकि आज भी कई कर्मचारियों को स्‍पष्‍टीकरण नोटिस देने के आदेश दिये गये हैं।

 

अगर हाल ही में की गयी काररवाई की बात करें तो कल 14 जनवरी को ही नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चन्दर नगर,आलमबाग की एएनएम संगीता द्वारा लापरवाही बरतने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नरेंद्र अग्रवाल ने कड़ी कार्रवाई करते हुए उनका स्थानांतरण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सरोजनीनगर करने के आदेश दिए थे। बैठक की समीक्षा के दौरान डॉ सुरभि त्रिपाठी ने सीएमओ को बताया था कि एम आर टीकाकरण सत्र के दौरान एएनएम संगीता द्वारा चार दिन की रिपोर्ट में शून्य उपलब्धि दर्शाई गयी हैं तथा उनके द्वारा सर्वे भी नहीं किया गया है तथा वे सायंकालीन मीटिंग मैं भी उपस्थित नहीं थीं। इस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कड़ी कार्रवाई करते हुए एएनएम संगीता का स्थानांतरण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सरोजनीनगर करने के निर्देश दिए तथा नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चन्दरनगर के अधीक्षक को कड़ी चेतावनी देते हुए एमआर अभियान को जल्द से जल्द शत-प्रतिशत पूरा करने के निर्देश भी दिए।

 

सीएमओ की अध्यक्षता में मंगलवार को संपन्न सायंकालीन समीक्षा बैठक में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके सिंह, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अजय राजा, डॉक्टर आर वी सिंह ,डॉ आर के चौधरी तथा उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ के पी त्रिपाठी ,डा वाई के सिंह, डॉ एके दीक्षित तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन से अमर सिंह ,यूनिसेफ से डॉक्टर शिवा अग्रवाल उपस्थित थे।

 

बैठक में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके सिंह ने बताया कि लखनऊ में अब तक 13,33,962 बच्चों के एम आर का टीका लगाया जा चुका है जो कि एक रिकॉर्ड है, इससे पहले कभी किसी अभियान में इतनी अधिक संख्या में बच्चों के इंजेक्शन नहीं लगाए गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नरेंद्र अग्रवाल ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आशा प्रकट की कि लखनऊ अपने लक्ष्य की शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल कर लेगा। बैठक में एन पी एसपी के प्रतिनिधि द्वारा बताया गया कि सेवा सदन में अंजली कुमारी के पास हब कटर नहीं था। राजाजीपुरम में एएनएम लीलावती सायंकालीन बैठक में अनुपस्थित थीं। नगराम में आंगनवाड़ी केंद्र अब्बास नगर पर आंगनवाड़ी कार्यकत्री उपस्थित नहीं थी। इसी प्रकार टूड़िया गंज में शाहगंज सत्र स्थल पर मोबिलाइजर उपस्थित नहीं था तथा एएनएम रीना हब कटर का उपयोग नहीं कर रही थी। वहां पर सर्वे लिस्ट भी उपलब्ध नहीं थी। आलमबाग में रुचि खंड पर एएनएम प्रियंका के पास एनाफायलैक्सिस किट उपलब्ध नहीं थी। सीएचसी सरोजिनी नगर में नूर नगर भदरसा में एएनएम दीक्षा कनौजिया के पास सर्वे रजिस्टर उपलब्ध नहीं था तथा एएनएम लक्ष्मी श्रीवास्तव सत्र स्थल पर 11:15 बजे पहुंची। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इस पर अप्रसन्नता व्यक्त की तथा उक्त सभी कर्मचारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए।