Saturday , February 24 2024

अत्याधुनिक टेक्निक वाले कृत्रिम अंगों से दिव्यांगता को हराना हमारा लक्ष्य

-विश्व विकलांग दिवस पर एबिलिटी हेल्थकेयर के डॉ कुलदीप सिंह ने कहा दिव्यांगों के पुनर्वास में अहम भूमिका निभा रहे उपकरण

सेहत टाइम्स

लखनऊ। हम नयी-नयी टेक्निक वाले कृत्रिम अंग-उपकरणों से दिव्यांगजनों के जीवन की राह आसान बनाने में बराबर लगे हुए हैं, हमारी कोशिश रहती है कि जो भी नयी टेक्निक वाले उपकरण देश-विदेश में कहीं भी इंट्रोड्यूस होते हैं उनका लाभ लखनऊवासियों तक जल्द से जल्द पहुंच सके।

यह बात यहां खरगापुर गोमती नगर में चल रहे पुनर्वास क्लीनिक एबिलिटी हेल्थकेयर के डॉ कुलदीप सिंह ने विश्व विकलांग दिवस पर मीडिया से वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि इस केंद्र के माध्यम से शारीरिक रूप से अक्षम एवं प्रभावित दिव्यांगजन रोगियों के लिए आधुनिक कृत्रिम अंग, सहायक उपकरण आदि निर्मित कर उन्हें सक्षम एवं चलने फिरने में स्वतंत्र बनाकर पूर्ण रूप से पुनर्वासित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हाल ही में हमने एक 34 वर्षीय युवा मोहिनिश राजपाल, जो कि लखनऊ के आशियाना में होटल और रेस्टोरेंट चलाते हैं, दिसंबर 2020 में दुर्घटना में अपना एक पैर गंवा चुके थे। दिसम्बर 2021 में हमारे सम्पर्क में आए फिर हमने मोरल सपोर्ट देते हुए भरोसा दिलाया कि आप दौड़ेंगे, बेहतर जिंदगी जीने में हमने और हमारे हेल्थ सेंटर ने हर तरह से सहयोग किया और आज यह युवा बिल्कुल बेहतर तरीके से समाज में अपने आप को स्थापित करते हुए अपने सारे काम धंधे को बेहतर तरीके से कर रहा है।

कृत्रिम प्रत्यारोपण को भी आयुष्मान योजना में शामिल करे सरकार

मोहिनिश राजपाल ने अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि शासन और सरकार से बस एक ही गुजारिश है कि इंश्योरेंस के क्लेम में, आयुष्मान भारत जैसी स्वास्थ्य योजना में, दुर्घटना से ग्रसित लोगों को कृत्रिम प्रत्यारोपण के खर्च को शामिल करें, जिससे अचानक आम जनमानस के जीवन में आने वाली दुर्घटना हो जाने से हो रही परेशानियों में आर्थिक मदद हो सके और ग्रसित व्यक्ति समाज की मुख्य धारा में रहकर काम कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.