Wednesday , February 8 2023

कैंसर इंस्‍टीट्यूट में 120 किलोमीटर दायरे के अस्‍पतालों के स्‍तन कैंसर मरीजों की जांच फ्री होगी

-जल्‍दी ही फेफड़े के कैंसर की जांच होगी फ्री, डिजिटल पैथोलॉजी की स्थापना पर जोर

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। कल्याण सिंह सुपर स्पेशियलिटी कैंसर संस्थान (केएसएसएससीआई), लखनऊ के 100 से 120 किलोमीटर के दायरे में स्थित टर्शरी अस्‍पताल, मेडिकल कॉलेज एवं जिला अस्‍पतालों में रेफरल स्‍तन कैंसर के मरीजों की जांच नि:शुल्‍क प्रदान करने को लेकर एक संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया।

केएसएसएससीआई में स्थापित DHR-ICMR एडवांस्ड मॉलिक्यूलर ऑन्कोलॉजी डायग्नोस्टिक सर्विसेज (DIAMOnDS) केंद्र एवं स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग (DHR), स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के संयुक्‍त तत्‍वावधान में आज एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्‍ठी का उद्देश्‍य उद्देश्य 100-120 किलोमीटर के दायरे में टर्सरी अस्पताल, मेडिकल कॉलेज एवं जिला अस्पताल में रेफरल स्तन कैंसर से ग्रसित मरीजों के जांचों के नमूनों की नि:शुल्क जांच की सुविधा प्रदान करना है एवं समस्त अस्पतालों का इस केंद्र से समन्वय स्थापित करना है जिससे कि राज्य के दूर-दराज के मरीजों को लाभ मिल सके। 

इस अवसर पर केंद्र सरकार की स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग की संयुक्त सचिव अनु नागर एवं केएसएसएससीआई के निदेशक प्रो.राधा कृष्ण धीमन, ने सभी मेडिकल कॉलेजों एवं अस्पतालों को एक साथ मिल-जुल कर इस केंद्र के साथ काम करने पर बल दिया, जिसके द्वारा राज्य के सामुदायिक स्तर पर सभी कैंसर ग्रसित मरीजों की जांचें नि:शुल्क प्रदान की जा सकें। 

इस गोष्ठी में राज्य के सरकारी मेडिकल कॉलेज, जीएसवीएम कानपुर, स्टेट मेडिकल कॉलेज हरदोई, फतेहपुर एवं स्ववित्तपोषित अन्य मेडिकल कॉलेज के लगभग 30 प्रधानाचार्यों एवं संकायाध्यक्षों ने भाग लिया।

निदेशक केएसएसएससीआई एवं संयुक्त सचिव ने इस संस्थान में डिजिटल पैथोलॉजी की स्थापना के लिए विशेष बल दिया जिससे कि कैंसर ग्रसित मरीजों का गुणवत्तापूर्वक जांच एवं परामर्श दिया जा सके एवं अनुसंधान की गुणवत्ता को बढ़ाया जा सके। 

डीएचआर, नई दिल्ली की वैज्ञानिक-ई, डॉ. कविता राजसेकर, ने गोष्ठी में भारतवर्ष में भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न हब एवं स्पोक मॉडल द्वारा चलाए जा रहे DIAMOnDS केंद्र के स्थापना एवं उद्देश्यों की चर्चा की और उन्होनें भी एक स्वतंत्र अत्याधुनिक मॉलिक्यूलर ऑन्को पैथोलॉजी की स्थापना पर बल दिया।

डॉ. दीप्ति मिश्रा, प्रधान अन्वेषक, DIAMOnDS केंद्र , केएसएसएससीआई ने भी संबोधित किया कि इस केंद्र के द्वारा स्तन कैंसर के मरीजों का नि:शुल्क जांच की जा रही है एवं भविष्य में अतिशीघ्र फेफड़े के कैंसर से ग्रसित मरीजों की जांच शुरू की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.